लखनऊ कोर्ट रूम शूटआउट: घायल बच्ची के शरीर में गोली अब भी फंसी, जानें डॉक्टर ने क्या कहा?

ट्रॉमा सर्जरी विभाग के फैकल्टी डॉ. यादवेंद्र धीर ने कहा, हमने अभी तक गोली निकालने की योजना नहीं बनाई है। यह छाती के किनारे स्थित है। गोली शरीर में पीछे से घुसी।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

लखनऊ कोर्ट रूम शूटआउट के दौरान घायल 18 माह की बच्ची के शरीर में गोली अब भी फंसी है। बुधवार को हमलावरों द्वारा गैंगस्टर संजीव माहेश्वरी जीवा पर फायरिंग के दौरान बच्ची को गोली लग गई थी। उसे किंग जॉर्ज मेडिकल विश्वविद्यालय में आईसीयू में रखा गया है। डॉक्टर ने कहा कि गोली अभी भी उसके शरीर के अंदर फंसी हुई है। ट्रॉमा सर्जरी विभाग के फैकल्टी डॉ. यादवेंद्र धीर ने कहा, हमने अभी तक गोली निकालने की योजना नहीं बनाई है। यह छाती के किनारे स्थित है। गोली शरीर में पीछे से घुसी।

उन्होंने कहा, हम उसकी स्थिति पर नजर रख रहे हैं। फिलहाल उसकी हालत स्थिर है, लेकिन वह लगातार निगरानी में है।

धीर ने कहा कि गोली निकालने का फैसला एनेस्थीसिया का सामना करने की उसकी स्थिति पर निर्भर करता है। उन्होंने कहा, हम जल्दबाजी में नहीं हैं। हम पहले उनकी स्थिति देखेंगे और फिर कोई फैसला लेंगे। बुधवार को घटना के तुरंत बाद बच्ची को यहां लाया गया था।

इस बीच, एडीजी पीयूष मोर्दिया ने कहा कि सभी घायलों की हालत स्थिर बनी हुई है। मोर्दिया ने कहा, घायल हुए दोनों पुलिसकर्मियों और बच्ची की हालत अब स्थिर है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;