मध्य प्रदेश: प्रोजेक्ट चीता को एक और झटका, कूनो नेशनल पार्क में एक और चीते की मौत, तीन महीने में 7 वां मामला

चीते तेजस की मौत के बाद अब तक कूनो नेशनल पार्क मे 4 चीते ओर 3 शावकों की मौत हो चुकी है। बीते तीन महीने में यहां जान गंवाने वाला यह 7वां चीता है। बता दें कि चीता तेजस उन चीतों में शामिल है, जिन्हें साउथ अफ्रीका से लाया गया था।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

मध्यप्रदेश के श्योपुर जिले में स्थित कूनो नेशनल पार्क से एक बार फिर बुरी खबर आई है क्योंकि यहां एक और चीते ने दम तोड़ दिया है। वहीं चीते तेजस की मौत के बाद अब तक कूनो नेशनल पार्क मे 4 चीते ओर 3 शावकों की मौत हो चुकी है। बीते तीन महीने में यहां जान गंवाने वाला यह 7वां चीता है। बता दें कि चीता तेजस उन चीतों में शामिल है, जिन्हें साउथ अफ्रीका से लाया गया था।

वन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार, कूनो नेशनल पार्क में दक्षिण अफ्रीका से लाए गए चीतों में से एक जिसका नाम तेजस है, जो बेहोशी की हालत में मिला था। इसे मॉनिटरिंग टीम उपचार के लिए लेकर आई और उसका इलाज भी किया गया, लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका।

बताया गया है कि तेजस नाम के चीते की गर्दन के ऊपर चोट के निशान मिले हैं। यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि आखिर उसे चोट लगी कैसे, क्योंकि जिस बाड़े में वह था, उसमें कोई दूसरा चीता नहीं है, झगड़ा किससे होता।


हालांकि डॉक्टरों का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही चीते की मौत का सही कारण पता चल पाएगा। चीते के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। इससे पहले 25 मई को कूनो नेशनल पार्क में दो और शावकों की मौत हो गई थी। सबसे पहले नामीबिया से भारत मादा चीता साशा की मौत हुई थी। साशा की मौत किडनी की बीमारी के कारण हुई थी। उसके बाद दक्षिण अफ्रीका से लाए गए चीते उदय की मौत हो गई थी।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;