कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए मध्य प्रदेश विधानसभा 26 मार्च तक स्थगित, टल गया फ्लोट टेस्ट

कोरोना वायरस की वजह से मध्य प्रदेश विधानसभा को 26 मार्च तक के लिए स्थगित कर दी गई है। इसी के साथ कमलनाथ सरकार की फ्लोर टेस्ट से टल गई है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

मध्य प्रदेश में जारी सियासी उठापटक के बीच सोमवार को शुरू हुए बजट सत्र को कोरोना वायरस के कारण 26 मार्च तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। विधानसभा का बजट सत्र सोमवार को राज्यपाल लालजी टंडन के अभिभाषण के साथ शुरू हुआ। उसके बाद हंगामा होने पर विधानसभा की कार्यवाही 5 मिनट के लिए स्थगित की गई। उसके बाद विधानसभाध्यक्ष एनपी प्रजापति ने कोरोना वायरस के कारण कार्यवाही 26 मार्च तक के लिए स्थगित कर दी। इसके साथ ही कोरोना वायरस की वजह से कमलनाथ सरकार का फ्लोर टेस्ट टल गया है। यह पहले 16 मार्च को होना तय था।

राज्य के कृषि मंत्री सचिन यादव ने सदन के बाहर संवाददाताओं से कहा कि देश में कोरोना को लेकर हाई अलर्ट है, और इसी के तहत यह कदम उठाया गया है। इससे पहले राज्यपाल ने अपने अभिभाषण में सिर्फ एक पैरा ही पढ़ा। इस तरह उन्होंने अभिभाषण को मात्र लगभग डेढ़ मिनट में पूरा कर दिया।


राज्यपाल ने सोमवार को बजट सत्र के आरंभ में अपना अभिभाषण दिया। उन्होंने कहा, “मेरी सरकार ने राज्य के विकास के लिए अपने वचन-पत्र की पूर्ति के लिए संकल्पित होकर काम किया है। साथ ही सरकार ने विजन दो जारी किया है। इसमें आगामी पांच वर्षो के लिए प्राथमिकताएं तय की गई हैं। सरकार राज्य की नई प्रोफाइल बनाने का काम करेगी।”

राज्यपाल के अभिभाषण में राज्य की वर्तमान स्थिति का भी जिक्र किया गया। साथ ही विधायकों से शांतिपूर्वक तरीके से अपनी जिम्मेदारी और दायित्वों का निर्वहन करने को कहा गया।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia