मध्य प्रदेशः धार में दलित वर्ग को मंदिर में प्रवेश से रोकने के लिए लगा बैनर, बवाल मचने पर पुलिस ने हटवाया

मामले में पुलिस ने बैनर लगाने वाले व्यक्ति के खिलाफ मारपीट सहित एससी-एसटी एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया है और जांच कर रही है। फिलहाल मौके पर शांति है, लेकिन तनाव बरकरार है। हालात को देखते हुए मौके पर पुलिस बल की भी तैनाती की गई है।

धार में दलित वर्ग को मंदिर में प्रवेश से रोकने के लिए लगा बैनर, बवाल के बाद पुलिस ने हटाया
धार में दलित वर्ग को मंदिर में प्रवेश से रोकने के लिए लगा बैनर, बवाल के बाद पुलिस ने हटाया
user

नवजीवन डेस्क

मध्य प्रदेश के धार जिले में एक मंदिर के बाहर बैनर लगाकर दलितों के प्रवेश पर रोक लगाने के मामले ने हंगामे का रूप ले लिया। दलित समाज के हंगामे के बाद पुलिस और प्रशासन के अधिकारी मौक पर पहुंचे और मंदिर से बैनर को हटवाया। मामले में पुलिस ने एससी-एसटी कानून के तहत केस दर्ज किया है।

यह मामला धार जिले के कुक्षी विकासखंड के लोहारी ग्राम का है। यहां श्री नर्वदेश्वर महादेव मंदिर है, जहां बुधवार को एक बैनर लगा नजर आया, जिसमें साफ लिखा था- निवेदन है कि हरिजनों का मंदिर में आना सख्त मना है। इस बैनर की खबर फैलते ही हंगामा मच गया और देखते ही देखते सैकड़ों लोग जमा हो गए।


मंदिर के बाहर एक समाज विशेष के प्रवेश पर रोक लगाए जाने का बैनर लगा होने की बात सामने आने पर बड़ी संख्या में लोग सड़क पर उतर आए। उन्होंने मनावर-कुक्षी मार्ग पर चक्का जाम कर दिया। इस मामले के तूल पकड़ते ही प्रशासनिक अमला मौके पर पहुंचा और बैनर हटवाया।

मामले में पुलिस ने बैनर लगाने वाले व्यक्ति के खिलाफ मारपीट सहित एससी-एसटी एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया है और जांच कर रही है। फिलहाल मौके पर शांति है, लेकिन तनाव बरकरार है। हालात को देखते हुए मौके पर पुलिस बल की भी तैनाती की गई है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;