मध्‍य प्रदेश चुनावः वोटिंग के बाद अब मतगणना की तैयारी, कांग्रेस ने 230 उम्मीदवारों को दी काउंटिंग की ट्रेनिंग

प्रशिक्षण के दौरान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने प्रत्याशियों और अभिकर्ताओं से कहा कि मतगणना का कार्य बिना किसी भय और दबाव के साथ करें। कोई समस्या आने पर प्रत्याशी और चुनाव कार्य में लगे अधिकारियों को सूचित करें, ताकि कानूनी तरीके से उसका हल हो सके।

मध्‍य प्रदेश में कांग्रेस ने 230 उम्मीदवारों को दी काउंटिंग की ट्रेनिंग
मध्‍य प्रदेश में कांग्रेस ने 230 उम्मीदवारों को दी काउंटिंग की ट्रेनिंग
user

नवजीवन डेस्क

मध्य प्रदेश चुनाव की मतगणना 3 दिसंबर को होने वाली है। ऐसे में मतगणना के लिए कमर कसते हुए कांग्रेस के अनुभवी नेताओं ने पार्टी उम्मीदवारों और अभिकर्ताओं का प्रशिक्षण शिविर आयोजित कर उन्हें काउंटिंग की बारीकियों से अवगत कराया। प्रशिक्षण देने वाले नेताओं ने 230 प्रत्याशियों और उनके मतगणना अभिकर्ताओं के साथ हर राउंड पर पूरी सक्रियता, शासकीय कर्मचारियों द्वारा चुनाव ड्यूटी के दौरान पोस्टल वोटों की गणना और मतगणना के दौरान आने वाली परेशानियों पर सक्रियता, विधिक समस्याओं सहित अन्य मुद्दों पर चर्चा की।

यह बैठक दो सत्र में हुई। प्रथम सत्र में रीवा, शहडोल, जबलपुर, ग्वालियर-चंबल संभाग और दूसरे सत्र में इंदौर उज्जैन, नर्मदापुरम, भोपाल और सागर संभाग के प्रत्याशियों की बैठक संपन्न हुई। प्रशिक्षण के दौरान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बैठक में उपस्थित कांग्रेस प्रत्याशियों और अभिकर्ताओं से लाइव चर्चा करते हुए कहा कि मतगणना का कार्य बिना किसी भय और दबाव के साथ करें।

कमलनाथ ने कहा कि कांग्रेस के एक एक कार्यकर्ता ने पूरी निष्ठा और ईमानदारी से कार्य किया है। कांग्रेस की सरकार बनने पर प्रदेश की नई तस्वीर बनेगी। युवाओं में नई ऊर्जा का संचार होगा, महिलाओं को सम्मान मिलेगा, किसानों का उत्थान होगा और नई पीढ़ी का भविष्य उज्ज्जवल होगा। उन्होंने कहा कि मतगणना के दिन पूरी निर्भीकता के साथ काम करें, कोई भी समस्या आने पर कांग्रेस प्रत्याशी और चुनाव कार्य में लगे अधिकारियों को सूचित करें, ताकि कानूनी तरीके से उसका निराकरण हो सके।


प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष और चुनाव आयोग कार्य प्रभारी जे.पी. धनोपिया ने मतगणना के दिन की गतिविधियों और चुनाव आयोग द्वारा प्राप्त दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए मतगणना कराए जाने के संबंध में जानकारी देते हुए कहा कि मतदान के दिन जो ईवीएम मशीन सील करके स्टॉंग रूम में रखी गई, उसका पूरी तरह निरीक्षण करें, किसी प्रकार की कोई त्रुटि पाए जाने पर निर्वाचन अधिकारी से तुरंत सपर्क कर किसी भी प्रकार की अमानवीय घटना होने की जानकारी निर्वाचन अधिकारी को दें।

धनोपिया ने कहा कि मतगणना के दौरान मतगणना स्थल पर ले जाई जाने वाली सामग्री अवश्य ले जाये, मतगणना शुरू होते ही मतगणना के हर राउंड और एक-एक मतों पर अपनी पैनी नजर रखें। शासकीय कर्मचारियों द्वारा किए गए पोस्टल वोट की गणना पूरी सतर्कता से कराएं, किसी भी अनाधिकृत व्यक्ति का प्रवेश इस दौरान वहां नहीं होने दिया जाए। 

धनोपिया ने कहा कि मोबाइल और अन्य इंटरनेट से संबंधित उपकरण मतगणना स्थल पर ले जाना पूरी तरह से वर्जित है, यदि कोई व्यक्ति इसका पालन नहीं करता या अन्य पार्टी के लोगों द्वारा किसी प्रकार की अमानवीय, असामाजिक घटना को अंजाम दिया जाता है तो पूरी सतर्कता के साथ उसका विरोध करें, शीघ्र ही अपने प्रत्याशी और निर्वाचन अधिकारी को अवगत कराएं। इमरोज खान ने ईवीएम मशीन से संबंधित जानकारी से अवगत कराया।

मध्य प्रदेश कांग्रेस के विधि एवं मानव अधिकार प्रकोष्ठ के अध्यक्ष एवं वरिष्ठ अभिभाषक शशांक शेखर ने प्रशिक्षण देते हुए मतगणना के दौरान आने वाली समस्याओं के दौरान कानूनी प्रक्रिया को लेकर विधिक जानकारी से अवगत कराया। प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष एवं बूथ प्रबंधन समिति के अध्यक्ष महेन्द्र जोशी ने प्रत्याशियों को सुझाव सांझा करते हुए कहा कि मतगणना के दिन काउंटिग एजेंट पूरी सतर्कता बरतें, समय के पूर्व काउंटिग के लिए अपने निर्धारित स्थान पर पहुंच जाएं और मतगणना शुरू होने के पूर्व पूरे संयम और सक्रियता से अपने कार्य को अंजाम दें।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;