मध्य प्रदेश: विधानसभा में करारी शिकस्त के बाद अब लोकसभा चुनाव भी हार जाएगी बीजेपी? साधु-संतों ने खोला मोर्चा

मध्य प्रदेश में साधु-संत कांग्रेस के साथ हैं और कांग्रेस के समर्थन में चुनाव प्रचार कर रहे हैं। इसकी एक बनगी भोपाल में देखने को मिली है। जहां साधु-संतों ने बीजेपी का खुलकर विरोध किया है तो वहीं कांग्रसे को अपना खुला समर्थन दिया है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में करारी हार के बाद लोकसभा चुनाव में भी बीजेपी को बड़ा झटका लग सकता है। बीजेपी को वादाखिलाफी और झूठ ने मुश्किल में डाल दिया है। मध्य प्रदेश में एक तरफ जहां जनता बीजेपी से नाराज चल रही है। वहीं दूसरी ओर साधु-संत भी उससे नाराज हैं। साधु-संतों ने विधानसभा चुनाव की तरह ही एक बार फिर लोकसभा चुनाव में भी बीजेपी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। साधु-संत कांग्रेस के साथ हैं और कांग्रेस के समर्थन में चुनाव प्रचार कर रहे हैं। इसकी एक बनगी भोपाल में देखने को मिली है। जहां साधु-संतों ने बीजेपी का खुलकर विरोध किया है तो वहीं कांग्रसे को अपना खुला समर्थन दे रहे हैं।

एक वक्त में शिवराज सरकार में दर्ज प्राप्त मंत्री रहे कंप्यूटर बाबा ने कांग्रेस का खुलकर समर्थन किया है। भोपाल में हजारों साधु-संतों ने पूजा की। इसमें कंप्यूटर बाबा और भोपाल से कांग्रेस के प्रत्याशी दिग्विजय सिंह शामिल हुए। इन साधु-संतों ने कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह के लिए प्रचार भी किया। कंप्यूटर बाबा ने कहा, “बीजेपी सरकार पांच सालों में राम मंदिर भी नहीं बना पाई। अब राम मंदिर नहीं तो मोदी नहीं।”

छठा चरण में भोपाल की लोकसभा सीट पर मतदान होना है। यहां से कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह के खिलाफ बीजेपी की टिकट पर मालेगांव ब्लास्ट की मुख्य आरोपियों में से एक प्रज्ञा ठाकुर चुनाव मैदान में हैं। ऐसे में साधु-संतों का कांग्रेस को समर्थन देना बीजेपी के लिए मुश्किलें खड़ी करने के साथ भोपाल में उसकी पत्याशी प्रज्ञा ठाकुर को भी मुश्किल में डाल सकता है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 07 May 2019, 12:07 PM
लोकप्रिय