महाराष्ट्र: CM उद्धव का BJP पर पलटवार, कहा- बात पर कायम रहना मेरा हिंदुत्व, मैं भाग्यशाली, विरोधी आए मेरे साथ

हिंदुत्व को त्यागने वाले बीजेपी के सवाल पर पलटावर करते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि अपनी बात पर कामय रहना ही मेरा हिंदुत्व है। उन्होंने कहा कि मैं अभी भी ‘हिंदुत्व’ की विचारधारा के साथ हूं और इसे कभी नहीं छोड़ूंगा।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

महाराष्ट्र विधानसभा स्पीकर के चुनाव के बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सदन को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने एक-एक करके बीजेपी के उन सवालों का जवाब दिया, जिसे आधार बनाकर बीजेपी उनके ऊपर हमला बोल रही थी। उद्धव ने कहा कि मैं भाग्यशाली हूं कि जो लोग कल तक मेरा विरोध कर रहे थे आज वो मेरे साथ हैं, और कल तक जिनके मैं साथ था वे आज विपक्ष में बैठे हैं। उन्होंने कहा कि आज मैं अपने भाग्य और लोगों के आशीर्वाद से यहां तक पहुंचा हूं। सीएम उद्धव ने कहा कि मैंने कभी भी लोगों से यह नहीं कहा कि मैं यहां (विधानसभा) आ रहा हूं, लेकिन मैं यहां आया।

हिंदुत्व को त्यागने वाले बीजेपी के सवाल पर पलटावर करते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि अपनी बात पर कामय रहना ही मेरा हिंदुत्व है। उन्होंने कहा, “मैंने देवेंद्र फडणवीस से बहुत सारी चीजें सीखी हैं और मैं हमेशा उनके साथ एक दोस्त की तरह रहूंगा। मैं अभी भी 'हिंदुत्व' की विचारधारा के साथ हूं और इसे कभी नहीं छोड़ूंगा। पिछले 5 वर्षों में मैंने कभी भी सरकार को धोखा नहीं दिया है।”

उद्धव ठाकरे ने आगे कहा, “मैंने आपको (देवेंद्र फडणवीस को) 'विपक्ष का नेता' नहीं कहा, लेकिन मैं आपको एक 'जिम्मेदार नेता' कहूंगा। अगर आप हमारे लिए अच्छे होते तो यह सब (बीजेपी-शिवसेना में फूट) नहीं होता।”

गौरतलब है कांग्रेस और एनसीपी के साथ जाने पर बीजेपी यह लगातार सवाल खड़े कर रही थी कि क्या शिवसेना ने हिंदुत्व के एजेंडे को त्याग दिया है। बीजेपी के उन्हीं सवालों सदन में उद्धव ठाकरे ने जवाब दिया है। उन्होंने बता दिया कि हिंदुत्व का मतलब वो नहीं जो बीजेपी सोच रही है। सीएम उद्धव ने बताया कि हिंदुत्व का असहली मतब यह है कि अगर आप किसी कोई वादा करें या उससे कोई बात कहें तो उस पर हमेशा कायम रहें। अपने इस बयान से उद्धव ठाकरे ने बीजेपी द्वारा किए गए उस वादे की भी याद दिलाई, जिसे उसने लोकसभा चुनाव के दौरान शिवसेना से किया था।

इससे पहले विधानसभा सत्र के पहले दिन यानी फ्लोर टेस्ट के दिन उद्धव ठाकरे ने पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस को गले लगाया था और यह साफ कर दिया था कि वह द्वेष की भावना से कोई काम नहीं करेंगे।

Published: 1 Dec 2019, 2:20 PM
लोकप्रिय