उद्धव ठाकरे के खिलाफ टिप्‍पणी के मामले में बढ़ी नारायण राणे की मुसीबत, शिवसेना कार्यकर्ता कर रहे गिरफ्तारी की मांग

बीजेपी नेता और केंद्रीय एमएसएमई मंत्री नारायण राणे के एक विवादित बयान से महाराष्ट्र की राजनीति में भूचाल आ गया है। शिवसेना कार्यकर्ता राणे पर बुरी तरह से भड़क गए हैं।

फोटो: ANI
फोटो: ANI
user

नवजीवन डेस्क

बीजेपी नेता और केंद्रीय एमएसएमई मंत्री नारायण राणे के एक विवादित बयान से महाराष्ट्र की राजनीति में भूचाल आ गया है। शिवसेना कार्यकर्ता राणे पर बुरी तरह से भड़क गए हैं। एक समय महाराष्‍ट्र और केंद्र में सत्‍ता में 'सहयोगी' रहीं भारतीय जनता पार्टी और शिवसेना के बीच कड़वाहट और बढ़ गई है। दोनों पार्टियों के कार्यकर्ता मंगलवार को मुंबई में एक-दूसरे से भिड़ गए। सिर्फ मुंबई ही नहीं बल्कि अब अमरावती, रत्नागिरी समेत कई शहरों में नारायण राणे के खिलाफ प्रदर्शन हो रहा है। मुंबई में शिवसैनिक सड़कों पर उतर आए हैं और राणे की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं।

वहीं नारायण राणे के खिलाफ महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को कथित तौर पर 'थप्पड़' मारने की धमकी देने के आरोप में कम से कम तीन शिकायतें दर्ज की गई हैं। नाराज शिवसेना और युवा सेना के कार्यकर्ताओं ने दादर में राणा की तस्वीर के साथ एक होडिर्ंग लगाकर जवाबी कार्रवाई की और एक अहंकारी कैप्शन 'कोम्बडी चोर' (चिकन चोर) लिखा। अन्य ने पुणे, नासिक और रायगढ़ जिलों में उनके खिलाफ पुलिस शिकायत दर्ज कराई।

उद्धव ठाकरे के खिलाफ टिप्‍पणी के मामले में बढ़ी नारायण राणे की मुसीबत, शिवसेना कार्यकर्ता कर रहे गिरफ्तारी की मांग


केंद्रीय मंत्री, जो राज्य से हैं, वर्तमान में मुंबई से सिंधुदुर्ग के लिए 'जन आशीर्वाद यात्रा' पर हैं और यह कथित टिप्पणी सोमवार रात चिपलून (रत्नागिरी) में एक रैली के दौरान आई थी। जहां शिवसेना और उनकी संबद्ध शाखाओं ने राणे की टिप्पणियों पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है, वहीं स्थानीय बीजेपी नेताओं ने यह कहते हुए उनका बचाव करने की कोशिश की कि यह एक विशिष्ट 'ठाकरे-शैली की भाषा' में बनाई गई।

यहां तक कि पुलिस ने मुंबई में राणे के घर, सिंधुदुर्ग और एक रिसॉर्ट जहां वह डेरा डाले हुए थे, उसकी सुरक्षा बढ़ा दी है और उनके बेटे नितेश राणे ने कहा कि वे इस मामले में कानूनी सलाहकारों से परामर्श कर रहे हैं।

एक हफ्ते में बीजेपी-शिवसेना के दुश्मन बने पूर्व सहयोगियों के बीच यह दूसरा बड़ा मुकाबला है। पिछले बुधवार को, शिवसेना कार्यकर्ताओं ने शिवाजी पार्क में दिवंगत बालासाहेब ठाकरे स्मारक को 'साफ और शुद्ध' किया था, जब राणे ने अपनी यात्रा शुरू करने से पहले वहां पूजा की थी। हालांकि पुलिस की शिकायत के बावजूद राणे की टीम ने स्पष्ट कर दिया है कि यह यात्रा मूल योजना के मुताबिक 27 अगस्त तक निर्बाध रूप से जारी रहेगी।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia