अंबानी के घर के बाहर मिली विस्फोटक लदी गाड़ी पर रहस्य बरकरार, महाराष्ट्र कांग्रेस ने जांच में देरी पर NIA को घेरा

महाराष्ट्र कांग्रेस के प्रवक्ता सचिन सावंत ने कहा कि मामले को 150 दिन से अधिक समय बीत चुका है और एनआईए को मामले में चार्जशीट दाखिल करने के लिए अब 30 दिन और दिए गए हैं, जबकि समय सीमा केवल 90 दिन की है। एनआईए को इतने विस्तार की आवश्यकता क्यों है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

महाराष्ट्र कांग्रेस ने शनिवार को उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के पास 20 जिलेटिन स्टिक वाली एसयूवी लगाने की जांच में देरी के लिए राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की आलोचना की। राज्य कांग्रेस के प्रवक्ता सचिन सावंत ने कहा कि 150 दिन से अधिक समय बीत चुका है और एनआईए को मामले में चार्जशीट दाखिल करने के लिए 30 दिन और दिए गए हैं, जबकि समय सीमा केवल 90 दिन की है। एनआईए को इतने विस्तार की आवश्यकता क्यों है।

लंबे समय से चली आ रही जांच का हवाला देते हुए उन्होंने जानना चाहा कि 25 फरवरी को सामने आए सनसनीखेज मामले में एनआईए कथित मास्टरमाइंड को कब पकड़ने जा रही है।
सावंत ने सवाल किया कि "एनआईए विस्फोटक से लदी गाड़ी (एसयूवी स्कॉर्पियो) को एंटीलिया बिल्डिंग के पास रखने के असली मकसद का खुलासा कब करेगी।"


मुंबई पुलिस ने 25 फरवरी को एंटीलिया इमारत के पास एक संदिग्ध एसयूवी को बरामद किया था, जिसकी जांच में उसमें से 20 जिलेटिन की छड़ें और अंबानी परिवार के लिए एक कथित धमकी भरा नोट बरामद किया गया था। मामले ने उस वक्त नया मोड़ ले लिया जब वाहन मालिक व्यापारी मनसुख हिरेन का शव 5 मार्च को ठाणे क्रीक के दलदल में पाया गया, जिससे पुलिस के साथ ही राज्य की सियासत में भारी उथल-पुथल मच गई।

इस हफ्ते, विशेष एनआईए अदालत ने मामले में चार्जशीट दाखिल करने के लिए एजेंसी को 30 दिनों का और समय दिया है। एनआईए पर सावंत ने यह हमला दिवंगत बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले की जांच में देरी के लिए सीबीआई पर निशाना साधने के कुछ दिन बाद बोला है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia