दुबई वर्ल्ड एक्सपो 2020 में महाराष्ट्र की शानदार धमक, भारी विदेशी निवेश वाले 25 एमओयू पर हुए हस्ताक्षर

मैग्नेटिक महाराष्ट्र 2.0 के तहत एमआईडीसी ने 10,851 लोगों के लिए संभावित प्रत्यक्ष रोजगार सृजन पैदा किया है, साथ ही लगभग 15,260 करोड़ रुपए यानी दो बिलियन डॉलर के प्रस्तावित निवेश के साथ 25 एमओयू पर हस्ताक्षर किए हैं।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

महाराष्ट्र सरकार ने दुबई में हो रहे वर्ल्ड एक्सपो 2020 में हिस्सा ले रही है। अक्टूबर 2021 और मार्च 2022 के बीच संयुक्त अरब अमीरात में हो रहे इस एक्सपो में महाराष्ट्र का प्रतिनिधिमंडल राज्य के उद्योग मंत्री सुभाष देसाई की अगुवाई में शामिल हुआ है। इस प्रतिनिधिमंडल में उद्योग विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी भी शामिल हैं।

महाराष्ट्र हमेशा से एक वैश्विक निवेश केंद्र रहा है और देश के कुछ सबसे बड़े और सबसे सफल व्यापारिक घरानों का मूल स्थान है। अप्रैल 2000 - 2020 के दौरान भारत के कुल प्रत्यक्ष विदेशी निवेश यानी एफडीआई का लगभग एक तिहाई हिस्सा महाराष्ट्र में ही आया है। इस तरह महाराष्ट्र देश में इस मोर्चे सबसे आगे रहा है। महाराष्ट्र में जहां 2004-05 में 2,543 करोड़ की एफडीआई आई थी वहीं 2019-20 में यह बढ़कर 79,216 करोड़ रुपये पहुंच गई है।

दुबई वर्ल्ड एक्सपो 2020 में महाराष्ट्र की शानदार धमक, भारी विदेशी निवेश वाले 25 एमओयू पर हुए हस्ताक्षर

महाराष्ट्र के उद्योग विभाग के समेकित प्रयासों, मजबूत नीतियों और राज्य सरकार के दूरदर्शी नेतृत्व ने औद्योगिक विकास को बढ़ावा दिया है और निवेशकों का विश्वास बढ़ाया है, जिससे महाराष्ट्र देश के सबसे पसंदीदा निवेश स्थलों में से एक बन गया है। इसके चलते महाराष्ट्र का औद्योगिक क्षेत्र फल-फूल रहा है।

मैग्नेटिक महाराष्ट्र 2.0 के तहत, जोकि अब अपने 7वें संस्करण और दुबई में अपने पहले अंतर्राष्ट्रीय संस्करण में है एमआईडीसी ने 10,851 लोगों के लिए संभावित प्रत्यक्ष रोजगार सृजन पैदा किया है, साथ ही लगभग 15,260 करोड़ रुपए यानी दो बिलियन डॉलरके प्रस्तावित निवेश के साथ 25 एमओयू पर हस्ताक्षर किए हैं।

जो एमओयू तय हुए हैं उनमें ऑटो और ऑटो कंपोनेंट्स, लॉजिस्टिक्स, ईवी, टेक्सटाइल्स, डेटा सेंटर, फार्मा, जैव-ईंधन और ऊर्जा जैसे मुख्य क्षेत्र शामिल हैं। रोतक बात यह है कि सभी इच्छुक एफडीआई निवेशक उन क्षेत्रों के हैं जिनमें महाराष्ट्र सरकार ने समर्पित प्रचार नीतियां बनाई हैं। इससे सरकार की नीति विकास और सुशासन में सक्रिया स्पष्ठ होती है।


महाराष्ट्र के लिए यह गर्व की बात है कि 6 देशों यानी जापान, सिंगापुर, स्वीडन, कोरिया, जर्मनी और इटली की कंपनियां महाराष्ट्र में निवेश करेंगी। एफडीआई देश और राज्य के आर्थिक विकास के लिए एक महत्वपूर्ण रणनीतिक व्यवस्था है, जिसके लिए दुबई वर्ल्ड एक्सपो जैसे वैश्विक आयोजनों में भाग लेना आवश्यक है।

इस एक्सपो में महाराष्ट्र ने एक शानदार आयोजन के साथ शुरुआत की है जिसमें राज्य की संस्कृति, इतिहास, कला और औद्योगिक ताकत को दर्शाया गया।

इस आयोजन की सफलता पर उद्योग मंत्री, सुभाष देसाई ने एक बार फिर उद्योगों, क्षेत्र विविधता, स्वदेशी क्षमताओं, भविष्य की तैयारी और निष्पादन कौशल में राज्य के विश्वास को दोहराया है। इसके साथ, मैग्नेटिक महाराष्ट्र 2.0 यह संदेश देता है कि महाराष्ट्र - भारत के विकास का मशाल वाहक "व्यापार के लिए खुला" है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia