हालात

गोवा कांग्रेस का बड़ा आरोप, पर्रिकर के बेडरूम से राफेल की फाइलें लेने उनके घर पहुंचे थे अमित शाह

राफेल डील को लेकर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को घेरते हुए गोवा कांग्रेस ने बड़ा आरोप लगाया है। गोवा कांग्रेस के प्रवक्ता ने आरोप लगाया कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का शनिवार को गोवा आने का ‘वास्तविक’ मिशन सीएम पर्रिकर के बेडरूम से राफेल सौदे की फाइलें लेना था।

फोटोः सोशल मीडिया

आईएएनएस

राफेल डील को लेकर रोज हो रहे एक के बाद एक खुलासों से चौतरफा घिरी मोदी सरकार और बीजेपी पर गोवा कांग्रेस ने बड़ा आरोप लगाया है। मंगलवार को गोवा कांग्रेस के प्रवक्ता जितेंद्र देशप्रभु ने राफेल डील को लेकर सीधा बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को घेरा है। उन्होंने दावा किया कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का शनिवार को गोवा आने का 'वास्तविक' मिशन मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के बेडरूम से राफेल डील से जुड़ी फाइल लेना था। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि पिछले कुछ दिनों से मीडिया में लीक हो रहे राफेल सौदे से संबंधित दस्तावेज उन राफेल फाइलों का हिस्सा हो सकते हैं, जो पर्रिकर के निजी आवास में रखे हुए हैं।

गोवा कांग्रेस के प्रवक्ता जितेंद्र देशप्रभु ने पार्टी के राज्य मुख्यालय में एक प्रेस वार्ता के दौरान कहा, “कांग्रेस आरोप लगाती है कि शाह का गोवा दौरा मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के घर से फाइलों को लेने के लिए था और फाइलें ले ली गई हैं। फाइलों को वहां से लेने के बाद अमित शाह और बीजेपी अब शांति से रह सकते हैं और इसके बाद वे मनोहर पर्रिकर को सीएम पद से हटा सकते हैं, क्योंकि इसके बाद वह पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को ब्लैकमेल नहीं कर पाएंगे।”

जितेंद्र देशप्रभु ने कहा कि राज्य के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे के साथ एक पत्रकार की बातचीत के लीक हुए ऑडियो टेप ने पहले ही इसकी पुष्टि कर दी है कि पूर्व रक्षामंत्री राफेल सौदे से संबंधित फाइल अपने कमरे में रखते हैं। बता दें कि उक्त विवादास्पत टेप में कथित तौर पर राणे से एक बेनाम पत्रकार को यह कहते सुना जा सकता है कि पर्रिकर ने हालिया कैबिनेट की बैठक में कहा था कि राफेल से जुड़ी फाइल उनके शयनकक्ष में रखी हुई है। इस टेप के सामने आने के बाद इसको लेकर जनवरी में संसद में हंगामा हुआ था।

मंगलवार को जितेंद्र देशप्रभु ने आरोप लगाया कि अमित शाह ने हाल में राज्य का दौरा राफेल से जुड़ी उन्हीं फाइलों को एकत्रित करने के लिए किया था और पणजी में पार्टी के बूथ कार्यकर्ताओं को संबोधित करने से पहले वह पर्रिकर के साथ उनके निजी आवास पर अनौपचारिक रूप से 45 मिनट तक रहे थे। उन्होंने कहा, “अमित शाह का काम पर्रिकर के शयनकक्ष से फाइल हटाना था, ताकि उनका घोटाला उजागर न हो पाए।” उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि पिछले कुछ दिनों में मीडिया में लीक हुए राफेल के दस्तावेज पूर्व रक्षामंत्री के आवास से ही निकले हैं।

लोकप्रिय