दिल्ली-देहरादून एक्सप्रेसवे पर बड़ा हादसा, चलती कार पर गिरा लोहे का गर्डर, बाल बाल बचा ड्राइवर

4 फरवरी को एक कार मुजफ्फरनगर जिले के कांधला से दिल्ली की तरफ जा रही थी। जब कार गाजियाबाद में ट्रोनिका सिटी थाना क्षेत्र के पावी गांव के नजदीक पहुंची तो अचानक एक लोहे का गर्डर शीशे को पार करता हुआ अंदर आ घुसा और स्टेयरिंग पर आकर अटक गया।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

दिल्ली-देहरादून एक्सप्रेसवे के निर्माणाधीन साइट पर करीब 20 फीट ऊंचाई से 50 किलो से ज्यादा वजनी एक लोहे का गर्डर चलती कार पर गिर गया। जिसके चलते कार क्षतिग्रस्त हो गई। गनीमत रही कि कार चालक सकुशल बच गया। यह कोई पहला हादसा नहीं है। इस तरीके के हादसे आए दिन हाईवे पर हो रहे हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक यह घटना 4 फरवरी की बताई जा रही है। लेकिन, इसका वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

दरअसल, दिल्ली से देहरादून तक ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे का निर्माण किया जा रहा है। ये एक्सप्रेसवे एलिवेटेड है। 4 फरवरी को एक कार मुजफ्फरनगर जिले के कांधला से दिल्ली की तरफ जा रही थी। जब कार गाजियाबाद में ट्रोनिका सिटी थाना क्षेत्र के पावी गांव के नजदीक पहुंची तो अचानक एक लोहे का गर्डर शीशे को पार करता हुआ अंदर आ घुसा और स्टेयरिंग पर आकर अटक गया।

अगर स्टेयरिंग से गर्डर न रुकता तो कार चलाने वाले युवक की जान भी जा सकती थी। कार सवार युवक को पता नहीं चला कि अचानक ये सब क्या हुआ? वो बदहवास हालत में तुरंत कार से बाहर निकला। इसके बाद पता चला कि जहां पर ये हादसा हुआ, उसके ठीक ऊपर एक्सप्रेसवे का निर्माण कार्य चल रहा था और इसी दौरान लोहे का एक गर्डर करीब 20 फुट ऊंचाई से नीचे गिर गया।


इस पूरे प्रकरण में एसीपी सूर्यबली मौर्य ने बताया कि पीड़ित युवक ने पुलिस में कोई शिकायत नहीं की है। दोनों पक्षों में आपस में समझौता हो गया है। सुरक्षा के मद्देनजर कंस्ट्रक्शन कंपनी को सुरक्षा नियमों का पालन करते हुए काम करने के निर्देश दिए गए हैं।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


    ;