ममता बनर्जी INDIA गठबंधन का हिस्सा, सीट शेयरिंग पर वक्त आने पर जारी होगा साझा बयान: जयराम रमेश

कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने कहा है कि ममता बनर्जी इंडिया गठबंधन का हिस्सा हैं, और लोकसभा चुनावों के लिए सीट शेयरिंग को लेकर वक्त आने पर साझा बयान जारी होगा।

कांग्रेस नेता जयराम रमेश
कांग्रेस नेता जयराम रमेश
user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने कहा है कि कांग्रेस मानती है कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अभी भी INDIA ब्लॉक का हिस्सा है। उन्होंने कहा कि, “हालांकि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने अपना मत प्रकट कर दिया है, पर आज भी हम उम्मीद रखते हैं कि जहां कहीं भी हमारा गठबंधन है, वह एकजुट है।“

झारखंड के देवघर में प्रेस कांफ्रेंस में जयराम रमेश ने पत्रकारों के सवाल के जवाब में कहा कि, “पश्चिम बंगाल में सारी अग्रणी भूमिका ममता बनर्जी जी की थी, ‘इंडिया’ गठबंधन को बनाने में, ‘इंडिया’ गठबंधन को ‘इंडिया’ नाम देने में, ‘इंडिया’ गठबंधन को आगे ले चलने में उनकी भूमिका, बड़ी महत्वपूर्ण भूमिका रही है। कुछ नाराजगी आ गई है उनको, ‘इंडिया’ गठबंधन, लोकसभा चुनाव के लिए है, विधानसभा चुनाव के लिए नहीं। विधानसभा चुनाव में ‘इंडिया’ गठबंधन की पार्टी एक-दूसरे से लडेंगी, वो वास्तविक है, पर लोकसभा चुनाव के लिए बीजेपी को निशाना बनाते हुए हमने एक होकर लड़ने का संकल्प लिया था, और वो संकल्प जारी है।“

जयराम रमेश ने कहा कि, “‘इंडिया’ गठबंधन मजबूत है, सीट शेयरिंग की बातचीत चल रही है। शीघ्र ही औपचारिक तौर से घोषणा होगी, इसमें इकतरफा घोषणा नहीं हो सकती। जब गठबंधन में हैं, तो हम सभी को एक होकर घोषणा करनी है। महाराष्ट्र में अगर सीट शेयरिंग होगी, तो महाराष्ट्र में शिवसेना, एनसीपी, कांग्रेस पार्टी, सभी मिलकर एक स्टेटमेंट देंगे। ऐसे ही केरल में होगा, तमिलनाडु में होगा, उत्तर प्रदेश में होगा, पश्चिम बंगाल में भी होगा।”

उन्होंने कहा कि, “पहली बैठक 23 जून को 18 पार्टियों की पटना में हुई। उसके बाद हम बेंगलूरू में मिले, 17 और 18 जुलाई को। तब 28 पार्टी बन गईं और उस गठबंधन का नाम दिया गया था ‘इंडिया’। ‘जुड़ेगा भारत, जीतेगा ‘इंडिया’, वो नारा भी दिया गया था। फिर 31 अगस्त और 1 सितंबर को हम मुंबई में मिले, तब भी सारी पार्टियां वहाँ शामिल थी।“

जयराम रमेश ने आगे कहा कि, “बीच में क्या हुआ, बीजेपी बौखला गई, परेशानी में आ गई, क्योंकि वो देख रहे थे कि 28 पार्टी अगर एक होकर लड़ेंगी, ‘इंडिया’ गठबंधन मजबूत होगा और बीजेपी जरूर हारने वाली है। तो पहले महाराष्ट्र में एनसीपी को तुड़वाया, बाद में बिहार में नीतीश कुमार जी को फिर से पलटी करने को कहा और आपने देखा है झारखंड में जिस तरीके से उत्पीड़न और प्रतिशोध की राजनीति दिखाई दी, ईडी, सीबीआई, इनकम टैक्स का दुरुपयोग हुआ है, ये सब साजिश है ‘इंडिया’ गठबंधन को कमजोर करने के लिए।”

कांग्रेस नेता ने कहा कि, “ ‘इंडिया’ गठबंधन बिल्‍कुल आक्रामक मोड में लोकसभा चुनाव लड़ रहा है। हम कोई संन्‍यासी संगठन नहीं हैं, हम एक राजनीतिक पार्टी हैं। जब हम चुनाव लड़ेंगे, हम आक्रामक ढंग से लड़ेंगे, कोई पीछे हटकर नहीं लड़ेंगे, ‘इंडिया’ गठबंधन हमने ऐसे ही नहीं बनाया है।“

उन्होंने पत्रकारों के सवाल के जवाब में याद दिलाया कि “ममता बनर्जी का वो बयान आप भूल जाते हैं, आप बीच में काट देते हैं उस बयान को। उन्‍होंने ये भी कहा है कि मैं गठबंधन में हूं और मैं बीजेपी को हराना चाहती हूं। उसी भावना के साथ हम उम्‍मीद कर रहे हैं कि दोनों तरफ से, दोनों दलों की ओर से एक संयुक्‍त बयान आएगा कि कितने सीटों पर हम लड़ेंगे, कितनी सीटों पर टीएमसी लड़ेगी।“

लाल कृष्ण आडवाणी को भारत रत्न दिए जाने की घोषणा पर जयराम रमेश ने कहा कि, “2002 में आडवाणी जी ने, नरेंद्र मोदी जी को बचाया था। तत्‍कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने, तत्‍कालीन मुख्‍यमंत्री गुजरात को अपना राजधर्म याद दिलाया था और उनको उस पद से हटाने वाले थे गोवा में, आपको याद होगा। पर अगर एक व्‍यक्ति उस मुख्‍यमंत्री को बचाए थे गोवा में, वो लालकृष्‍ण आडवाणी जी थे। फास्‍ट फॉरवर्ड कीजिए 2014 को। 5 अप्रैल, 2014, सीन है गांधीनगर में और गांधीनगर में नरेंद्र मोदी जी हैं और लालकृष्‍ण आडवाणी जी हैं, वो नामांकन पत्र भरने जा रहे हैं चुनाव के लिए और आडवाणी जी ने एक बहुत मशहूर बयान दिया है जो हमारे भारतीय इतिहास में स्‍वर्ण अक्षरों में लिखा जाएगा। 5 अप्रैल, 2014 को उन्‍होंने कहा- नरेंद्र मोदी मेरे शिष्‍य नहीं हैं, मेरे शागिर्द नहीं हैं वो, वो एक शानदार कार्यक्रम प्रबंधक हैं। ये शब्‍द हमने नहीं दिया है, ये आडवाणी जी ने नरेंद्र मोदी जी के बारे में 5 अप्रैल 2014 को गांधीनगर में कहा था।“

भारत जोड़ो न्याय यात्रा के बारे में जयराम रमेश ने कहा कि, “कल शाम हम झारखंड में आए थे, यहां झारखंड के नए मुख्‍यमंत्री, टाईगर ऑफ झारखंड चंपई सोरेन जी ने स्‍वागत किया। कल पाकुड़ में थे, आज सुबह गोड्डा से हम देवघर आए। कल शाम पाकुड़ से लेकर देवघर जिले में, सभी जगहों में भारी संख्या में युवा, महिलाएं, बुजुर्ग, बच्‍चे, समाज का हर वर्ग, सड़कों पर उतरा है, फूल बरसाए हैं।“

उन्होंने कहा कि, “हम झारखंड में करीब 13 जिलों से जाएंगे और करीब 8 दिन हम झारखंड में रहेंगे। यहां यात्रा दो चरणों में होगी, पहले चरण में 11 जिले कवर होंगे और दूसरे चरण में दो जिले हम कवर करेंगे। तो कुल मिलाकर 8 दिन रहेंगे, 13 जिले कवर होंगे भारत जोड़ो न्‍याय यात्रा से।“ उन्होंने कहा कि, “भारत जोड़ो न्‍याय यात्रा, पांच न्‍याय को लेकर इसका विचार किया गया था और इसी के बारे में बार-बार राहुल जी कह रहे हैं। पिछले 10 साल का जो अन्‍याय काल है, उससे हमें हटना है। प्रधानमंत्री अमृत काल के सुनहरे सपने दिखा रहे हैं देश की जनता को, पर हकीकत है अन्‍याय के 10 साल और राहुल जी ने कहा है पांच न्‍याय- नारी न्‍याय, युवा न्‍याय, श्रमिक न्‍याय, किसान न्‍याय और हिस्‍सेदारी न्‍याय।“

जयराम रमेश ने कहा कि, “हालांकि चुनाव आने वाले हैं। ये चुनावी यात्रा नहीं है, ये सीट-वीट की कोई यात्रा नहीं है, ये वैचारिक यात्रा है। ये विचारधारा पर आधारित है। बीजेपी और आरएसएस की विचारधारा का मुकाबला भारत जोड़ो यात्रा के समय हमने किया था और उसको आगे लेकर चलते हुए यहां भारत जोड़ो न्‍याय यात्रा निकाली गई है। एक विचारधारा के खिलाफ हम लड़ रहे हैं।“

उन्होंने बताया कि, “भारत जोड़ो न्याय यात्रा से हमारे कांग्रेस संगठन में एक नई शक्ति आई है, नई ऊर्जा दिखाई दे रही है, नई एकजुटता भी आई है। तो संगठन के लिए बहुत फायदेमंद होगा। क्या ये हमारे लिए वोट लाएंगे या सीट लाएंगे, मैं नहीं कह सकता हूं।“ उन्होंने कहा कि, “कर्नाटक में हमारी सरकार बनी,  वहां भारत जोड़ो यात्रा निकली थी, तेलंगाना में हमारी सरकार बनी, वहाँ भारत जोड़ो यात्रा निकली थी, मध्य प्रदेश में भी निकली थी, पर हमारी सरकार वहां बन नहीं पाई, राजस्थान में भी हमारी सरकार बन नहीं पाई, तो ये चुनाव हारेंगे, चुनाव जीतेंगे, ये उतार-चढ़ाव चलता रहेगा। पर पहले भारत जोड़ो यात्रा और अब भारत जोड़ो न्याय यात्रा, दोनों वैचारिक यात्राएं हैं।“

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;