ममता ने केंद्र पर मदर टेरेसा की संस्था के खाते फ्रीज करने का लगाया आरोप, मिशनरीज ऑफ चैरिटी ने किया इनकार

टीएमसी प्रमुख ने मिशनरीज ऑफ चैरिटी के सारे बैंक खातों को फ्रीज किये जाने का आरोप लगाते हुए कहा कि इससे संस्था के 22 हजार मरीजों और कर्मचारियों के पास न तो खाना बचा और न दवा बचा है। कानून सर्वोपरि है, लेकिन मानवीय प्रयासों से भी समझौता नहीं किया जाना चाहिए।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को सनसनीखेज दावा करते हुए आरोप लगाया कि केंद्र सरकार ने मदर टेरेसा द्वारा स्थापित संस्था मिशनरीज ऑफ चैरिटी के सारे बैंक अकाउंट फ्रीज कर दिए हैं। हालांकि इस मामले पर मिशनरीज ऑफ चैरिटी का भी बयान आ गया है और उसने केंद्र सरकार द्वारा उसके किसी भी बैंक खाते को फ्रीज किये जाने से इनकार किया है।

टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने सोमवार शाम को एक ट्वीट में कहा, "यह सुनकर हैरानी हुई कि केंद्र ने क्रिसमस के दिन मदर टेरेसा की मिशनरीज ऑफ चैरिटी के भारत में सारे बैंक खातों को फ्रीज कर दिया है। इससे संस्था के 22 हजार मरीजों और कर्मचारियों के पास न तो खाना बचा और न दवा बचा है। कानून सर्वोपरि है, लेकिन मानवीय प्रयासों से भी समझौता नहीं किया जाना चाहिए।"


ममता के इस आरोप पर संस्था या केंद्र सरकार की ओर से अभी तक कोई आधिकारिक बयान तो नहीं आया है, लेकिन ‘आज तक’ की खबर के अनुसार मिशनरीज ने ऐसी किसी कार्रवाई से इनकार किया है। खबर के मुताबिक मिशनरीज ऑफ चैरिटी की प्रवक्ता सुनीता कुमार ने कहा कि भारत सरकार के द्वारा संस्था के किसी खाते को फ्रीज किए जाने की उन्हें कोई जानकारी नहीं है। उन्होंने दावा किया कि सारे बैंक खाते सही से काम कर रहे हैं। जहां तक मेरी बात है, मुझे ऐसी कोई जानकारी नहीं है।

गौरतलब है कि इस महीने की शुरुआत में गुजरात के वडोदरा जिले में संस्था के लड़कियों के लिए धर्मार्थ घर के खिलाफ कथित जबरन धर्म परिवर्तन के आरोपों में मामला दर्ज किया गया था। पुलिस ने आरोपों के बारे में बताया कि लड़कियों को बाइबिल पढ़ने के लिए कहा जा रहा था और अन्य समुदायों के लोगों की कुछ शादियां ईसाई रीति-रिवाजों के अनुसार आयोजित की जा रही थीं। हालांकि, संस्थान में काम करने वाली एक नन ने आरोपों का खंडन किया था।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 27 Dec 2021, 5:54 PM