प्रदर्शनकारी पहलवानों के समर्थन में आईं ममता बनर्जी, बोलीं- उन्हें चोट पहुंचाने की हिम्मत मत करना...

सीएम ममता ने लिखा, इस तरह से हमारी बेटियों के सम्मान को ठेस पहुंचाना बेहद शर्मनाक है। भारत अपनी बेटियों के साथ खड़ा है और मैं एक इंसान के रूप में निश्चित रूप से हमारे पहलवानों के साथ खड़ी हूं।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को नई दिल्ली में जंतर-मंतर पर प्रदर्शन कर रहे पहलवानों के साथ एकजुटता दिखाई और पुलिस द्वारा महिला पहलवानों के साथ कथित मारपीट को 'शर्मनाक' करार दिया। मुख्यमंत्री ने अपने ट्विटर अकाउंट से एक ट्वीट किया। ममता ने लिखा कि एक इंसान के तौर पर उनकी एकजुटता प्रदर्शनकारी पहलवानों के साथ है। उन्होंने केंद्र सरकार को चेतावनी भी दी कि अगर पहलवानों को चोट पहुंची तो देश उन्हें माफ नहीं करेगा।

सीएम ममता ने लिखा, इस तरह से हमारी बेटियों के सम्मान को ठेस पहुंचाना बेहद शर्मनाक है। भारत अपनी बेटियों के साथ खड़ा है और मैं एक इंसान के रूप में निश्चित रूप से हमारे पहलवानों के साथ खड़ी हूं। कानून सभी के लिए एक है। शासक का कानून इन पहलवानों की गरिमा को नहीं छीन सकता। आप उन पर हमला कर सकते हैं लेकिन उनका हौसला नहीं तोड़ सकते। लड़ाई सही है और लड़ाई जारी रहेगी।


हमारे पहलवानों को चोट पहुंचाने की हिम्मत मत करना, देश उनके आंसू देख रहा है और देश आपको माफ नहीं करेगा। मैं अपने पहलवानों से आग्रह करती हूं कि वे मजबूत बने रहें, मैं पूरी ताकत उनके साथ है।

रिपोर्ट के अनुसार, विशेष रूप से बुधवार की रात, प्रदर्शनकारी पहलवानों ने जंतर-मंतर पर पुलिस द्वारा छेड़छाड़ का आरोप लगाया। जंतर-मंतर पर पहलवान भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह पर छेड़छाड़ और यौन उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

बृजभूषण शरण सिंह उत्तर प्रदेश से बीजेपी के लोकसभा सांसद भी हैं। पहलवान पिछले 11 दिन से धरने पर बैठे हैं।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;