मणिपुर: एमबीए के छात्र को भीड़ ने पीट-पीटकर उतारा मौत के घाट, हवलदार समेत 5 आरोपी गिरफ्तार

मणिपुर में एमबीए के छात्र फारूक अहमद खान अपने दोस्तों के साथ कहीं जा रही थे। इसी दौरान थौरोइजाम अवांग लेइकई में भीड़ ने वाहन चोरी के शक में फारूक के साथ उनके दो साथियों को रोका और उनकी पिटाई शुरू कर दी। भीड़ ने फारूक को इतना पीटा की उनकी मौत हो गई।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

देश में भीड़ द्वारा की जाने वाली हत्याएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। ताजा मामला मणपुर के ईस्ट इंफाल में सामने यहा है। जहां वाहन चोरी के शक में फारूक अहमद खान नाम के एक एमबीए के छात्र को भीड़ ने पीट-पीटकर मार डाला। पुलिस ने इस मामले में एक हवलदार समेत 5 लोगों को गिरफ्तार किया है।

यह घटना 13 सितंबर की है। बताया जा रहा है कि मणिपुर के थौबल जिले के लिलोंग हाओरेबी कॉलेज में एमबीए की पढ़ाई करने वाले फारूक अहमद खान कार से अपने दो दोस्तों के साथ कहीं जा रही थे। इसी दौरान थौरोइजाम अवांग लेइकई में भीड़ ने उन्हें और उनके दो साथियों पर हमला कर दिया। इस बीच फारूक के दोस्त किसी तरह से जान बचाकर भागने में कामयाब रहे। भीड़ ने फारूक को घेर लिया। सबसे पहले भीड़ ने फारूक की कार को आग के हवाले किया। इसके बाद फारूक पिटाई शुरू कर दी। उन्हें भीड़ ने इतना पीटा कि उनकी मौत हो गई।

वहीं इस घटना के बाद से इलाके में तनाव है। थौरोइजाम गांव के लोगों ने शुक्रवार को पटसोई थाने का घेराव किया और गिरफ्तार लोगों को छोड़ने की मांग की। बताया जा रहा कि भीड़ ने पुलिसकर्मियों पर पथराव भी किया। इसके बाद भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले छोड़े।

पुलिस ने बताया कि इस मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जिसमें इंडिया रिजर्व बटालियन का एक हवलदार भी शामिल है। आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 302, 117 और 34 के तहत केस दर्ज किया गया है। पुलिस का कहना है कि बाकी के आरोपियों की तलाश की जा रही है।

उधर, मणिपुर मानवाधिकार आयोग ने इस घटना का स्वत: संज्ञान लिया है और राज्य के पुलिस महानिदेशक को मामले की जांच करने और 22 सितंबर तक रिपोर्ट सौंपने को कहा है।

लोकप्रिय