सांस में तकलीफ के बाद मनीष सिसोदिया अस्पताल में भर्ती, कोरोना पॉजिटिव होने के बाद से होम आइसोलेशन में थे

मनीष सिसोदिया को अस्पताल में भर्ती किए जाने की पुष्टि करते हुए उनके एक पारिवारिक मित्र ने कहा कि सांस में तकलीफ को देखते हुए उन्हें एलएनजेपी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वह 14 सितंबर को कोरोना टेस्ट में पॉजिटिव पाए जाने के बाद से होम आइसोलेशन में थे।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

आईएएनएस

कोरोना वायरस से संक्रमित दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को बुधवार को राजधानी के एक सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दिल्ली सरकार में शिक्षा और वित्त मंत्रालय का कार्यभार संभाल रहे मनीष सिसोदिया को सांस लेने में तकलीफ होने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम उनकी निगरानी कर रही है।

मनीष सिसोदिया को अस्पताल में भर्ती किए जाने की पुष्टि करते हुए उनके एक पारिवारिक मित्र ने कहा, "मनीष सिसोदिया को सांस लेने में कुछ तकलीफ हो रही है। इसी समस्या को देखते हुए उन्हें सरकारी लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मनीष सिसोदिया 14 सितंबर को कोरोना टेस्ट में पॉजिटिव पाए जाने के बाद से अपने घर पर ही आइसोलेशन में रह रहे थे।"

इससे पहले 14 सितंबर को कोरोना जांच की रिपोर्ट आने के बाद मनीष सिसोदिया ने खुद ट्ववीट कर कहा था, "हल्का बुखार होने के बाद मैंने कोरोना टेस्ट कराया था, जिसकी रिपोर्ट पॉजि़टिव आई है। मैंने स्वयं को एकांतवास में रख लिया है। आप सब की दुआओं से जल्द ही पूर्ण स्वस्थ होकर काम पर लौटूंगा।"

14 सितंबर को ही मनीष सिसोदिया के अलावा दिल्ली के आठ अन्य विधायक भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। इनमें प्रमिला टोकस, गिरीश सोनी, राजेश गुप्ता, ऋतुराज, वीरेंद्र सिंह कादयान, अजय महावर, सुरेंद्र कुमार और विशेष रवि शामिल हैं। दरअसल 14 सितंबर को विधानसभा की कार्यवाही से पहले सभी विधायकों की कोरोना जांच की गई। इसी जांच में प्रमिला टोकस, गिरीश सोनी और विशेष रवि पॉजिटिव पाए गए। जबकि राजेश गुप्ता, ऋतुराज, वीरेंद्र सिंह कादयान, अजय महावर और सुरेंद्र कुमार ने खुद के पॉजिटिव होने की जानकारी विधानसभा को दी थी।

गौरतलब है कि सबसे पहले दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन को बुखार की शिकायत के उपरांत अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां वे कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। बाद में सत्येंद्र जैन की हालत काफी खराब हो गई थी। फिर उन्हें प्लाजमा थेरेपी भी दी गई। अस्पताल से छुट्टी मिलने के लगभग एक महीने बाद सत्येंद्र जैन ने स्वास्थ्य मंत्रालय का कार्य दोबारा संभाला था। जैन की अनुपस्थिति में उस समय सिसोदिया ही स्वास्थ्य मंत्रालय का कार्यभार संभाल रहे थे।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia