'चीन ने वायरस को फैलने दिया और दुनिया को अंधेरे में रखा, WHO की कोविड रिपोर्ट पर क्या कोई डील है?'

कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने मंगलवार को डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट को लेकर केंद्र की चुप्पी पर सवाल उठाया, जिसमें कहा गया है कि कोरोना वायरस चमगादड़ से जानवरों और फिर मनुष्यों में फैल गया होगा और लैब से लीक होने के दावों को खारिज कर दिया गया है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

आईएएनएस

कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने मंगलवार को डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट को लेकर केंद्र की चुप्पी पर सवाल उठाया, जिसमें कहा गया है कि कोरोना वायरस चमगादड़ से जानवरों और फिर मनुष्यों में फैल गया होगा और लैब से लीक होने के दावों को खारिज कर दिया गया है। मनीष तिवारी ने आईएएनएस से बात करते हुए आरोप लगाया कि चीन ने वायरस को फैलने दिया और दुनिया को अंधेरे में रखा। उन्होंने 9 फरवरी को लैब-लीक पर चीन को क्लीन चिट देने डब्ल्यूएचओ-चीन के बयान और लद्दाख में सैनिकों को हटाने की अनुमति देने के फैसले पर भी सवाल उठाया।

तिवारी ने आरोप लगाया कि जब चीन ने पहली बार वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी में वायरस का पता लगाया तो उसने अपने शहरों को बंद कर दिया, लेकिन वायरस के प्रसार को रोकने के लिए अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों पर रोक नहीं लगाई।

तिवारी ने कहा कि यह विश्व स्वास्थ्य संगठन के कार्यकारी बोर्ड के अध्यक्ष के रूप में भारत की जिम्मेदारी है कि वह प्रयोगशाला से लीक मामले के जांच को अपने तरीके से निष्कर्ष पर ले जाए, उन्होंने कहा, "मुझे समझ नहीं आता कि सरकार इस पर चुप क्यों है।"



अपने ट्वीट में उन्होंने कहा, "क्या यह चीन के साथ डील थी? चूंकि डब्लूएचओ के बोर्ड अध्यक्ष के रूप में कोविड -19 को फैलाने में चीन के दोष पर भारत ने आपत्ति नहीं जताई है और लद्दाख में सेना पीछे हटेगी? "

उन्होंने आगे कहा कि 10 फरवरी 2021 को चीन के राष्ट्रीय रक्षा मंत्रालय के वरिष्ठ कर्नल वू कियान ने उत्तरी दक्षिण पैंगोंग के तट से सेना पीछे हटाने के संबंध में घोषणा की। 11 फरवरी 2021 राजनाथ सिंह ने राज्यसभा में चीन के बयान की पुष्टि की? क्या यह सिर्फ एक संयोग हो सकता है? काफी हद तक असंभव।

भारत ने पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 56,211 नए मामले दर्ज किए, जो एक दिन पहले की तुलना में 17 प्रतिशत कम है, मंगलवार को कुल मामलों की संख्या बढ़कर 1,20,95,855 हो गई। देश में सोमवार को 68,020 मामले दर्ज किए गए थे।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia