सुप्रीम कोर्ट में आज कई अहम मामलों की होगी सुनवाई, ज्ञानवापी, आनंद मोहन की रिहाई समेत इन मामलों पर रहेगी नजर

सुप्रीम कोर्ट में ज्ञानवापी मामले से लेकर बिहार के बाहुबली नेता आनंद मोहन की रिहाई के खिलाफ याचिका समेत कई मामलों पर सुनवाई होनी है। तो आइए नजर डालते हैं।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

सुप्रीम कोर्ट में आज कई महत्वपूर्ण केसों पर सुनवाई होने वाली है। इसमें ज्ञानवापी मामले से लेकर बिहार के बाहुबली नेता आनंद मोहन की रिहाई के खिलाफ याचिका समेत कई मामले शामिल हैं। तो आइए नजर डालते हैं।

ज्ञानवापी मामले में सुनवाई

सबसे पहला केस आज ज्ञानवापी मामले में मस्जिद पक्ष की तरफ से दाखिल की गई याचिका से जुड़ा हुआ है। इसकी सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में आज 11:30 पर होने वाली है। इस सुनवाई में आज पांच हिंदू महिलाओं की याचिका को सुनवाई योग्य करार दिए जाने का विरोध भी है। दरअसल, इन महिलाओं ने ही श्रृंगार गौरी की नियमित पूजा को लेकर याचिका दायर की थी।


कावेरी जल मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई 

कावेरी जल मुद्दे को लेकर विभिन्न संगठनों ने बेंगलुरु बंद बुलाया है। बीएमटीसी के मुताबिक, बेंगलुरु मेट्रोपॉलिटन ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन के सभी रूट हमेशा की तरह चालू रहेंगे। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में आज कावेरी जल मुद्दे पर सुनवाई होगी। इस मामले में कर्नाटक-तमिलनाडु के बीच विवाद है।

बाहुबली आनंद मोहन कि रिहाई मामले पर आज सुप्रीम कोर्ट सुनवाई

बाहुबली आनंद मोहन कि रिहाई मामले पर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी. गोपालगंज के तत्कालीन डीएम जी कृष्णैया हत्याकांड में सजा काटकर जेल से बाहर आए आनंद मोहन पर जी कृष्णैया की पत्नी ने याचिका लगाई थी. उन्होंने इस रिहाई को गैर-कानूनी करार देते हुए बिहार सरकार के उस जेल मैनुअल के फैसले को भी चुनौती दी है जिसमें संशोधन करके उनकी रिहाई का रास्ता साफ हुआ था.


बुलडोजर कार्रवाई पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई

पिछले कुछ महीनों से देशभर में बुलडोजर का इस्तेमाल जमकर किया जा रहा है। सरकार आरोपियों की संपत्तियों पर बुलडोजर चलवाकर ध्वस्त करवा देती है। इस तरह की कार्रवाई के बाद सवाल उठाया जाता है कि क्या यह सही है? एक व्यक्ति की गलती की सजा पूरे परिवार को क्यों दी जाती है?

बुलडोजर कार्रवाई के खिलाफ जमीयत उलमा-ए-हिंद की याचिका से संबंधित है, जिसकी सुनवाई 12 बजे के करीब होगी। जमीयत उलमा-ए-हिंद ने याचिका में कहा है कि बिना उचित कानूनी प्रक्रिया के देश के कई राज्यों में बुलडोजर चलाए जा रहे हैं। अधिकतर जगहों पर एक विशेष समुदाय को खास निशाना बनाया जा रहा है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;