मायावती ने भी अयोध्या जमीन घोटाले पर BJP पर बोला हमला, सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में जांच की उठाई मांग

मायावती ने कहा कि बीजेपी के 300 सीट जीतने के दावे में दम नहीं है। यदि ऐसा होता तो चुनावी दौर में इतनी लुभावनी घोषणा की जरूरत नहीं पड़ती। छात्रों को लालच देने की जरूरत नहीं पड़ती। केंद्रीय नेताओं और मंत्रियों को थोक में यूपी में लाने की जरूरत नहीं पड़ती।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने बी अयोध्या में जमीन खरीद में घोटाले के आरोपों को लेकर बीजेपी पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि अयोध्या में नेताओं-अधिकारियों और उनके रिश्तेदारों के नाम पर हुई जमीन खरीदी की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट को पूरे मामले का संज्ञान लेना चाहिए और उसी की निगरानी में पूरे मामले की जांच होनी चाहिए।

लखनऊ स्थित पार्टी के प्रदेश कार्यालय में गुरुवार को पत्रकारों संबोधित करते हुए मायावती ने कहा कि अयोध्या में बन रहे राम मंदिर के आस-पास की जमीन खरीद घोटाले में बड़े लोगों का नाम आना एक गंभीर मामला है। अब तो इस मामले में उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि बेहतर होगा कि इस बड़े प्रकरण में सुप्रीम कोर्ट दखल दे। सुप्रीम कोर्ट को केन्द्र और राज्य सरकार को इस मुद्दे को गंभीरता से लेने के लिए निर्देश देना चाहिए। यह तो करोड़ों लोगों की आस्था से जुड़ा मामला है।


दरअसल राम मंदिर पर शीर्ष अदालत का फैसला आने के बाद अयोध्या में अधिकारियों-नेताओं और उनके रिश्तेदारों ने कथित तौर पर बड़े पैमाने पर जमीनें खरीदी हैं। करोड़ों की ये जमीनें औने-पौने दाम पर खरीदी गई हैं। राम मंदिर निर्माण शुरू होने के बाद अयोध्या में अफसरों, नेताओं और उनके रिश्तेदारों द्वारा बड़े पैमाने पर जमीन खरीद के खुलासे के बाद योगी सरकार ने जांच के आदेश दिए हैं। मुख्यमंत्री योगी के निर्देश पर विशेष सचिव राजस्व राधेश्याम मिश्रा को जांच सौंपी गई है। मिश्रा को पांच दिन में जांच पूरी करके रिपोर्ट देने को कहा गया है।

मायावती ने कहा कि बीजेपी के 300 सीट जीतने के दावे में दम नहीं है। यदि ऐसा होता तो चुनावी दौर में इतनी लुभावनी घोषणा की जरूरत नहीं पड़ती। छात्रों को लालच देने की जरूरत नहीं पड़ती। केंद्रीय नेताओं और मंत्रियों को थोक में यूपी में लाने की जरूरत नहीं पड़ती। उन्होंने कहा कि अपने फायदे के लिए बीजेपी और एसपी विधानसभा चुनाव को हिंदू-मुसलमान बनाना चाहती हैं। उन्होंने पार्टी मुख्यालय पर मुख्य सेक्टर प्रभारियों और जिला अध्यक्षों को निर्देश दिया कि वह घर-घर जाकर बीजेपी और एसपी कि इस साजिश का खुलासा करें और मतदाताओं को सतर्क करें।


मायावती ने कहा कि बीएसपी की चार सरकारों में जनता के हितों में ही काम किया गया है।
उन्होंने कहा कि जैसा कि आप सभी को अवगत है कि हमारी पार्टी उत्तर प्रदेश में अकेले ही सभी 403 विधानसभा सीट पर चुनाव लड़ रही है। हमारे कार्यकर्ता, नेता और प्रत्याशी इसके लिए जोरदार तैयारी में भी लगे हैं। आज की यह बैठक इन सभी की तैयारियों को परखने के लिए बुलाई गई है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia