मायावती ने दोहराई बीजेपी को हराने की प्रतिबद्धता, कहा, वाजपेयी की मौत का राजनीतिक लाभ उठाने में जुटी बीजेपी

बीएसपी प्रमुख मायावती ने कहा कि वह गठबंधन के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन गठबंधन में उनकी पार्टी को सम्मानजनक सीटें मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर ऐसा नहीं होता है तो उनकी पार्टी अकेले चुनाव मैदान में उतरेगी।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने प्रेस को संबोधित करते हुए एक बार फिर आगामी चनावों में गठबंधन के जरिए बीजेपी को उखाड़ फेंकने की अपनी प्रतिबद्धता को दोहराया। उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि बहुजन समाज पार्टी बीजेपी को हराने के लिए गठबंधन में शामिल होगी, लेकिन उसे सम्मानजनक में सीटें मिलनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि वह गठबंधन के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन उनकी पार्टी को उन राज्यों में सम्मानजनक सीटें मिलनी चाहिए, जहां वह कमजोर हैं। मायावती ने कहा, “अगर ऐसा नहीं होता है तो हम अकेले चुनाव मैदान में उतरेंगे।”

बीएसपी प्रमुख ने कहा, “बीजेपी अपनी नाकामियों को छिपाने में कोशिश कर रही है। उसने जनता से चुनाव में जो भी वादे किए थे उसे पूरे नहीं किए। अब बीजेपी पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की मौत का राजनीतिक लाभ उठाने की कोशिश कर रही है।

बीएसपी कांग्रेस के साथ मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में गठबंधन के लिए बातचीत कर रही है, जहां वह कमजोर खिलाड़ी रही है। सभी तीनों राज्यों में जल्द ही विधानसभा चुनाव होने हैं।

लोकप्रिय