मायावती ने हार का समाजवादी पार्टी पर फोड़ा ठीकरा, कहा- यादवों ने नहीं दिया वोट, उपचुनाव अकेले लड़ेगी बीएसपी

बीएसपी प्रमुख मायावती ने मंगलवार को समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन तोड़ने का ऐलान किया है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के उपचुनावों में 11 सीटों पर बीएसपी अकेले लड़ेगी। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी को यादवों का वोटनहीं मिला तो हमें क्या मिलेगा।

फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

बीएसपी प्रमुख मायावती ने समाजवादी पार्टी से गठबंधन तोड़ने का ऐलान किया है। मीडिया से बात करते हुए मायावती ने कहा कि इस बार यादवों ने समाजवादी पार्टी के साथ भीतरघात किया और अपनी ही पार्टी के प्रत्याशियों को वोट नहीं दिया। मायावती ने आगे कहा कि जब यादव बिरादरी ने समाजवादी पार्टी को ही वोट नहीं दिया तो बीएसपी को क्या वोट देते। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी में बड़े सुधार की जरूरत है।

मायावती ने कहा कि अभी मैजूदा स्थिति में हम उत्तर प्रदेश में 11 सीटों पर होने वाले उपचुनाव अकेले लड़ेंगे।

मायावती ने आगे कहा, “कन्नौज में डिंपल, बदायूं में धर्मेंद यादव और फिरोजाबार में अक्षय यादव की हार हमें सोचने पर मजबूर करती है। इन दिग्गज प्रत्याशियों की हार से हमें भी बहुत दुख है। लेकिन इससे साफ पता चलता है कि इन यादव बाहुल्य सीटों पर भी यादव समाज का वोट समाजवादी पार्टी को नहीं मिला।”

मायावती ने आगे कहा, “अखिलेश और डिंपल मुझे बहुत इज्जत देते हैं। हमारे रिश्ते हमेशा के लिए हैं। लेकिन राजनीतिक विवशताएं हैं। लोकसभा चुनाव के नतीजे यूपी में जो उभरकर सामने आए हैं, उसमें यह दुख के साथ कहना पड़ा है कि

इससे पहले सोमवार को उन्होंने दिल्ली में लोकसभा चुनाव के नतीजों की समीक्षा की थी। मायावती ने पदाधिकारियों और सांसदों के साथ हुई बैठक में कहा था कि समाजवादी पार्टी से गठबंधन का फायदा नहीं हुआ।

बता दें कि मुलायम सिंह यादव बीएसपी के साथ गठबंधन के पक्ष में नहीं थे। लेकिन अखिलेश यादव ने मुलायम सिंह यादव की सलाह को दरकिनार कर मायावती से चुनावी गठबंधन किया। इसका नतीजा ये रहा कि एसपी सात लोकसभा सीटों में से पांच में सिमट में गयी है।

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश में बीएसपी अकेले लड़ेगी विधानसभा उपचुनाव, एसपी-बीएसपी महागठबंधन हो गया दो फाड़ !

लोकप्रिय