राज्यसभा चुनाव के नतीजों पर मायावती की दो टूक, बीजेपी जितनी कोशिश कर ले, नहीं टूटेगा एसपी-बीएसपी गठबंधन

राज्यसभा चुनाव के नतीजों पर बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने कहा कि बीजेपी ने इस चुनाव में धनबल और सरकारी मशीनरी का जमकर दुरुपयोग किया, ताकि एसपी-बीएसपी के बीच दोबारा दूरियां बढ़ जाएं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश राज्यसभा चुनाव के नतीजों के आने के बाद शनिवार को बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने मीडिया को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने बीजेपी पर जमकर निशाना साधा। मायावती ने राज्यसभा चुनाव में बीजेपी पर विधायकों की खरीद फरोख्त का आरोप लगाया और कहा कि बीजेपी ने इस चुनाव में धनबल और सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग किया है। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने ऐसा इस लिया किया, ताकि एसपी और बीएसपी के बीच दोबारा दूरियां बढ़ जाएं। उन्होंने कहा कि हम बीजेपी के इन मंसूबों को कामयाब नहीं होने देंगे। अपने इस बयान से मायावती ने साफ कर दिया कि समाजवादी पार्टी के साथ उनकी पार्टी का गठबंधन जारी रहेगा और राज्यसभा चुनाव के नतीजों का इस पर कोई असर नहीं पड़ा है।

मायावती ने कहा कि गोरखपुर और फूलपुर में बीजेपी को मिली हार को भूलाया नहीं जा सकता है, चाहे इसके लिए वह जितनी भी कोशिश कर ले। उन्होंने कहा कि मोदी और योगी की परंपरागत सीट पर 28 साल बाद जो धब्बा लगा है, वह इस अनैतिक जीत से धुलने वाले नहीं है।

राज्यसभा चुनाव के नतीजों के बाद समाजवादी पार्टी ने भी एकजुट होने का संदेश दिया है। चुनाव में एसपी प्रत्याशी जया बच्चन तो जीत गईं, लेकिन बीएसपी प्रत्याशी भीमराव अंबेडकर को हार का सामना करना पड़ा है। जया बच्चन की जीत पर शनिवार यानी 24 मार्च को लखनऊ के पार्टी मुख्यालय पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम को रद्द कर दिया गया है।

समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता सुनील सिंह साजन ने बताया, “पार्टी मुख्यालय पर एक समारोह का आयोजन किया जाना था, जिसमें दोनों पार्टियों के जीते हुए प्रत्याशियों को शामिल होना था, लेकिन हमारे सहयोगी दल बीएसपी के प्रत्याशी चुनाव हार गए हैं, इसलिए यह कार्यक्रम रद्द कर दिया गया है।”

वहीं, राज्यसभा चुनाव में विधायक विजय मिश्रा को क्रॉस वोटिंग करना महंगा पड़ा है। निषाद पार्टी ने विजय मिश्रा को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है। विधायक विजय मिश्रा ने अपना वोट बीजेपी उम्मीदवार को दिया था, जबकि उन्हें बीएसपी उम्मीदवार भीमराव अम्बेडकर को देना था।

निषाद पार्टी के अध्यक्ष संजय कुमार निषाद ने बताया कि विधायक विजय मिश्रा को अनुशासनहीनता का दोषी पाया गया है, जिसके बाद उन्हें पार्टी की प्राथिमक सदस्यता से निलंबित कर दिया गया है। संजय कुमार निषाद ने कहा कि मिश्रा ने लोगों को धोखा दिया है। उन्होंने बताया कि बीएसपी उम्मीदवार भीमराव अम्बेडकर के पक्ष में वोट डालने के लिए पार्टी ने व्हिप जारी किया था, बावजूद इसके विजय मिश्रा ने बीजेपी के उम्मीदवार को वोट दिया।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 24 Mar 2018, 6:13 PM
;