मोदी सरकार कश्मीरी पंडितों को सुरक्षा देने में नाकाम, अपने ही देश में हो गए हैं विदेशी और बेगाने : संजय सिंह

आम आदमी पार्टी ने केंद्र की मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा है कि कश्मीर में आतंकवादियों द्वारा कश्मीरी पंडितों की नृशंस हत्या की जा रही है, बीजेपी की केंद्र सरकार उनको सुरक्षा देने में नाकाम रही है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

आम आदमी पार्टी ने केंद्र की मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा है कि कश्मीर में आतंकवादियों द्वारा कश्मीरी पंडितों की नृशंस हत्या की जा रही है, बीजेपी की केंद्र सरकार उनको सुरक्षा देने में नाकाम रही है। कश्मीरी पंडित अपने ही देश में विदेशी और बेगाने हो गए हैं। आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और सांसद संजय सिंह ने शुक्रवार को कहा कि देश में कश्मीरी पंडितों का पलायन दो बार हुआ है। पहला 1990 में जब केंद्र में बीजेपी समर्थित सरकार थी, दूसरा अब जब केंद्र में पूर्ण बहुमत वाली मोदी सरकार है। कश्मीर में पहली बार कश्मीरी पंडितों के पलायन के वक्त 1990 में बीजेपी के नेता जगमोहन कश्मीर के राज्यपाल थे। जिनको बाद में मोदी सरकार ने पदम से सम्मानित किया। कश्मीरी पंडितों का बड़े पैमाने पर पलायन हो रहा है, वह अपने ही देश में विदेशी और बेगाने हो गए हैं।

उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि कश्मीर में आतंकवादियों द्वारा कश्मीरी पंडितों की नृशंस हत्या की जा रही है। बीजेपी शासित केंद्र सरकार उनको सुरक्षा देने में नाकाम रही है। कश्मीरी पंडितों का बड़े पैमाने पर पलायन हो रहा है। वह अपने ही देश में विदेशी और बेगाने हो गए हैं। कश्मीरी पंडित अपने छोटे-छोटे बच्चों, बूढ़े मां-बाप, पत्नी के साथ कश्मीर छोड़कर पलायन कर रहे हैं।


संजय सिंह ने कहा कि बीजेपी के नेता वादे करते थे कि कश्मीरी पंडितों को ले जाकर बसाया जाएगा। इनको बसाना तो दूर की बात है जो वहां पर बचे थे, उनको भी बीजेपी के राज में पलायन करना पड़ रहा है। कश्मीरी पंडितों की सुरक्षा और चिंता करने के बजाए? बीजेपी की सारी चिंता विपक्ष के नेताओं को कैसे फंसाया जाएगा, इसमें लगी हुई है। कश्मीर फाइल्स फिल्म बनाकर पूरे देश में उनके दर्द को बेचने और राजनीति करने का काम किया गया है।

सदस्य संजय सिंह ने पार्टी मुख्यालय में प्रेसवार्ता कर कहा कि कश्मीर के अलग-अलग हिस्सों से आज दर्दनाक बातें सुनने को मिल रही हैं, जिससे पूरा देश दुखी, पीड़ित है। कश्मीरी पंडितों का बड़े पैमाने पर पलायन हो रहा है। अपने ही देश में कश्मीरी पंडित विदेशी और बेगाने हो गए हैं। कश्मीर के एक हिस्से में आतंकवादियों द्वारा कश्मीरी पंडितों की नृशंस हत्या की जा रही है। सरकार उनको सुरक्षा देने में सक्षम नहीं है बल्कि उनको उन्हीं की कॉलोनियों में जेल बनाकर कैद कर दिया गया है। कैद करके उनको उनके घरों में रखा गया है। उनको प्रदर्शन-आंदोलन करने, आवाज उठाने और सुरक्षा की बात करने पर लाठियों से पीटा जा रहा है, आंसू गैस के गोले छोड़े जा रहे हैं।


उन्होंने कहा, मैं केंद्र सरकार और गृह मंत्री अमित शाह से पूछना चाहता हूं कि उनका क्या गुनाह है। कश्मीरी पंडितों की सुरक्षा और चिंता करने के बजाए? आपकी सारी चिंता विपक्ष के नेताओं को कैसे फंसाया जाएगा, इसमें लगी हुई है। कश्मीरी पंडितों को सुरक्षा दीजिए, उनको सुरक्षा चाहिए। आप लोगों ने कश्मीर फाइल्स फिल्म बनाकर पूरे देश में कई महीनों तक रोना-धोना, चर्चा ?चलाना, उनके दर्द को बेचने और राजनीति करने का काम किया है। लेकिन जब आज वाकई उनके ऊपर मुसीबत आ गई और उनकी हत्याएं हो रही हैं तो सात दरवाजे के पीछे छुपे हुए हैं। उन आतंकवादियों का सफाया कीजिए। हम वह कार्रवाई चाहते हैं।

आईएएनएस के इनपुट के साथ

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia