देशद्रोही है मोदी सरकार, लोकतंत्र की प्राथमिक संस्थाओं, नेताओं, जनता की जासूसी के लिए खरीदा पेगासस: राहुल गांधी

राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, “मोदी सरकार ने हमारे लोकतंत्र की प्राथमिक संस्थाओं, राज नेताओं व जनता की जासूसी करने के लिए पेगासस खरीदा था। फन टैप करके सत्ता पक्ष, विपक्ष, सेना, न्यायपालिका सब को निशाना बनाया है। ये देशद्रोह है। मोदी सरकार ने देशद्रोह किया है।”

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पेगासस के मुद्दे पर मोदी सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने ट्वीट करके कहा कहा कि मोदी सरकार ने हमारे लोकतंत्र की प्राथमिक संस्थाओं, राज नेताओं व जनता की जासूसी करने के लिए पेगासस ख़रीदा था। फ़ोन टैप करके सत्ता पक्ष, विपक्ष, सेना, न्यायपालिका सब को निशाना बनाया है। ये देशद्रोह है। मोदी सरकार ने देशद्रोह किया है।

स्पाईवेयर पेगासस को लेकर एक बार फिर मोदी सरकार सवालों में है। मोदी सरकार ने 2017 में मिसाइल प्रणाली सहित हथियारों की खरीद के लिए हुए 2 बिलियन डॉलर के रक्षा डील में ही इजरायली स्पाईवेयर पेगासस खरीदा था। शुक्रवार को द न्यूयॉर्क टाइम्स में छपी रिपोर्ट यही कहती है। जिसे इंडियन एक्सप्रेस में रिपोर्ट छापी गई है।

न्यूयॉर्क टाइम्स के द्वारा की गयी जांच से जानकारी सामने आयी कि फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन ने भी इस स्पाईवेयर को खरीदा था। खबरों के अनुसार एफबीआई इस स्पाईवेयर को घरेलू निगरानी के लिए इस्तेमाल करना चाहती थी।

रिपोर्ट के अनुसार, इसमें बताया गया है कि कैसे दुनिया भर में इस स्पाईवेयर का इस्तेमाल किया गया। इसका इस्तेमाल मेक्सिको द्वारा पत्रकारों और विरोधियों को निशाना बनाना शामिल था। सऊदी अरब द्वारा महिला अधिकारों की पक्षधर कार्यकर्ताओं के खिलाफ, सऊदी अरब के गुर्गों द्वारा हत्या कर दिये गये स्तंभकार जमाल खशोगी के खिलाफ भी इजरायली स्पाईवेयर का इस्तेमाल हुआ। रिपोर्ट में बताया गया है कि इजरायल के रक्षा मंत्रालय द्वारा नये सौदों के तहत पोलैंड, हंगरी और भारत समेत कई देशों को पेगासस की सेवा दी गयी।

इसे भी पढ़ें: बड़ा खुलासा! 2017 में भारत ने इस्राइल से खरीदा था पेगासस स्पाईवेयर, रक्षा सौदे का था हिस्सा, रिपोर्ट में दावा

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia