गरीबी, असमानता पर RSS के बयान से भड़की मोदी सरकार! पलटवार में खाद्य पदार्थो की कीमत में गिरावट का किया दावा

आरएसएस महासचिव दत्तात्रेय होसबले ने कहा था कि देश में 20 करोड़ लोग अभी भी गरीबी रेखा से नीचे हैं। 23 करोड़ लोगों की आय प्रति दिन 375 रुपये से कम है। देश में चार करोड़ बेरोजगार लोग हैं। श्रम बल सर्वेक्षण कहता है कि हमारे पास 7.6 प्रतिशत का बेरोजगारी दर है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

लगता है आरएसएस द्वारा देश में गरीबी, मंहगाई, असमानता और बेरोजगारी के बढ़ने का मुद्दा उठाना मोदी सरकार को पसंद नहीं आया है। संघ महासचिव दत्तात्रेय होसबोले के बयान के एक दिन बाद मोदी सरकार के मंत्री पीयूष गोयल ने दावा किया कि दालों और सब्जियों सहित कुछ वस्तुओं की कीमत में गिरावट आई है।

आरएसएस द्वारा त्योहारी सीजन के बीच कीमतों में बढ़ोतरी, गरीबी में वृद्धि का मुद्दा उठाने पर उपभोक्ता मामलों के मंत्री पीयूष गोयल ने सोमवार को ट्विटर पर दावा किया कि पिछले महीने की तुलना में दालों और सब्जियों सहित कुछ वस्तुओं की कीमतों में गिरावट आई है। यह बयान आरएसएस द्वारा देश में बढ़ती असमानता और बेरोजगारी पर सवाल उठाने के एक दिन बाद आया है।


पीयूष गोयल ने सोमवार को ट्विटर पर कहा, "त्योहारों के समय में खाद्य पदार्थों की कीमतों में गिरावट, घर में जश्न, बजट में राहत।" उन्होंने ट्वीट के साथ एक ग्राफिक भी संलग्न किया जिसमें दिखाया गया है कि कैसे कई वस्तुओं की कीमतों में गिरावट आई है।

ग्राफिक में दिखाया गया है कि पिछले महीने की इसी तारीख की तुलना में 2 अक्टूबर को पाम तेल की कीमत में 11 प्रतिशत, प्याज में 8 प्रतिशत और आलू की कीमत में 7 प्रतिशत की कमी आई है। इसी तरह, इसी अवधि के दौरान चना दाल की कीमत में 4 प्रतिशत और सरसों के तेल की कीमत में 3 प्रतिशत की कमी आई है।

रविवार को आरएसएस ने देश में गरीबी, बेरोजगारी और बढ़ती असमानता का मुद्दा उठाया था।
संघ के महासचिव दत्तात्रेय होसबले ने आरएसएस से जुड़े स्वदेशी जागरण मंच के एक वेबिनार के दौरान कहा कि, "देश में गरीबी हमारे सामने एक राक्षस की तरह खड़ी है। यह महत्वपूर्ण है कि हम इस राक्षस को मार डालें। 20 करोड़ लोग अभी भी गरीबी रेखा से नीचे हैं, यह एक ऐसा आंकड़ा है जो हमें बहुत दुखी करता है। 23 करोड़ लोगों की आय प्रति दिन 375 रुपये से कम है। देश में चार करोड़ बेरोजगार लोग हैं। श्रम बल सर्वेक्षण कहता है कि हमारे पास 7.6 प्रतिशत का बेरोजगारी दर है।"

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;