गोडसे ‘देशभक्त’ वाले बयान पर बैकफुट पर मोदी सरकार, रक्षा समिति से प्रज्ञा को हटाया, कांग्रेस का सदन से वॉकआउट

लोकसभा की कार्यवाही शुरू होते ही गोडसे को देशभक्त कहने वाले बयान पर कांग्रेस के सांसदों ने हंगामा किया। वहीं, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सफाई देते हुए कहा कि नाथूराम गोडसे को देशभक्त तो दूर हमारी पार्टी इस तरह की ऐसी सोच का भी खंडन करती है।

फोटो: LSTV
फोटो: LSTV
user

नवजीवन डेस्क

मध्य प्रदेश से बीजेपी संसद प्रज्ञा ठाकर द्वारा महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को लोकसभा में देशभक्त कहने पर केंद्र की मोदी सरकार और बीजेपी बैकफुट पर आ गई है। बयान पर हंगामा बढ़ता देख मोदी सरकार ने रक्षा समिति से प्रज्ञा ठाकुर को बाहर का रास्ता दिखा दिया है। इसके साथ ही बीजेपी ने इस पर सफाई भी दी है। बीजेपी के अंतरिम अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि हम प्रज्ञा ठाकुर के बयान की निंदा करते हैं। उन्होंने कहा बीजेपी कभी भी ऐसे बयान की समर्थन नहीं करती है। उन्होंने कहा कि हमने रक्षा समिति से प्रज्ञा ठाकुर को बाहर करने का फैसला लिय है। नड्डा ने यह भी कहा कि इस सत्र में उन्हें बीजेपी संसदीय दल की बैठक में हिस्सा लेने की इजाजत नहीं दी जाएगी।

इस बीच लोकसभा की कार्यवाही शुरू होते ही इस मुद्दे पर कांग्रेस के सांसदों ने सदन में हंगामा किया और प्रज्ञा के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा, “कांग्रेस को एक आतंकवादी पार्टी (बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर द्वारा) कहा गया। जिस पार्टी से हजारों नेताओं ने देश की आजादी के लिए बलिदान दिया था। क्या हो रहा है? क्या सदन इस पर चुप रहेगा? महात्मा गांधी के हत्यारे को 'देशभक्त' कहा गया है।”

सदन में हंगामा बढ़ता देख रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह लोकसभा में खड़े हुए और उन्होंने पार्टी और अपनी सरकार का बचाव करते हुए प्रज्ञा ठाकुर के बयान की निंदा की। उन्होंने कहा कि नाथूराम गोडसे को देशभक्त तो दूर हमारी पार्टी इस तरह की सोच का भी खंडन करती है। राजनाथ सिंह ने कहा कि महात्मा गांधी की विचारधारा हमेशा प्रासंगिक रहेगी। आज भी उनकी सोच प्रेरणादायक है और हमेशा रहेगी।


कांग्रेस सांसदों को शांत कराते हुए लोकसभा स्पीकर ने कहा कि प्रज्ञा ठाकुर के बयान को रिकॉर्ड से हटा दिया गया। उन्होंने विपक्षी सांसदों से शांत रहने की अपील की। लेकिन प्रज्ञा ठाकुर पर कार्रवई की मांग करते हुए विपक्षी सांसद हंगामा करते रहे। इस बीच कांग्रेस के सांसदों ने लोकसभा से इस मुद्दे पर वॉकआउट कर दिया।

वहीं, कांग्रेस नेता राहुल गांदी ने प्रज्ञा ठाकुर के बयान की कड़ी निंदा की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, “बीजेपी सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर द्वारा आतंकी गोडसे को देशभक्त कहती हैं। भारत की संसद के इतिहास में सबसे दुखद दिन है।”


गौरतलब है कि लोकसभा में बुधवार को एसपीजी संशोधन बिल पर चर्चा के दौरान बीजेपी सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने बापू के हत्यारे गोडसे को देशभक्त बताया था। सदन में द्रमुक सांसद ए राजा ने विधेयक पर चर्चा के दौरान नकारात्मक मानसिकता को लेकर गोडसे का उदाहरण दिया। इतना सुनना था कि प्रज्ञा सदन में खड़ी हो गईं। उन्होंने कहा कि देशभक्तों का उदाहरण मत दीजिए। इस बायान के बाद सदन में हंगामा खड़ा हो गया। कांग्रेस के सांसदों ने प्रज्ञा के बयानों का कड़ा विरोध किया।

राजा ने कहा कि गोडसे ने खुद इस बात को माना था कि 32 वर्षों से वो महात्मा गांधी के खिलाफ द्वेष पाले हुए था और यही वजह है कि उसने गांधी की हत्या कर दी। राजा ने कहा कि गोडसे ने बूपी की हत्या इसलिए की, क्योंकि वो विशेष विचारधारा में यकीन रखता था।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia