मोदी जी अगर किसानों के प्रति आपकी नीयत सच में साफ है तो केंद्रीय गृह राज्य मंत्री को करें बर्खास्त: प्रियंका गांधी

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि पीएम मोदी जी अगर देश के किसानों के प्रति आपकी नीयत सचमुच साफ है तो आज अपने केंद्रीय गृह राज्यमंत्री के साथ मंच पर विराजमान मत होईये, उनको बर्खास्त कीजिये।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पीएम मोदी ने शुक्रवार को तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने का ऐलान किया। आज कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और उन्होंने बताया कि लखीमपुर खीरी कांड को लेकर उन्होंने पीएम मोदी को पत्र लिखा है।

प्रियंका गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज आप लखनऊ में होने वाली DGP कॉन्फ्रेंस में क़ानून व्यवस्था को संभालने वाले उच्च अधिकारियों के साथ चर्चा करेंगे। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी अभी भी आपके मंत्रीमंडल में अपने पद पर बने हुए हैं, उन्हें बर्खास्त करिए।

उन्होंने आगे कहा कि अगर देश के किसानों के प्रति आपकी नियत साफ है तो आज आप अपने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के साथ मंच पर विराजमान मत होईए। देशभर में किसानों पर दर्ज मुकदमें वापस लिजिए और जिन किसानों की मृत्यु हुई हैं उनके परिवारजनों को आर्थिक अनुदान दीजिए।


पत्रकार वार्ता के दौरान प्रियंका गांधी ने कहा, "लखीमपुर में अन्नदाताओं के साथ हुई क्रूरता को पूरे देश ने देखा। किसानों को अपनी गाड़ी से कुचलने का मुख्य आरोपी आपकी सरकार के केंद्रीय गृह राज्य मंत्री आपकी सरकार के गृह राज्य मंत्री का बेटा है। राजनीतिक दबाव के चलते इस मामले में यूपी सरकार ने शुरुआत से ही न्याय की आवाज को दबाने की कोशिशि की है। माननीय उच्चत न्यायलय ने इस संदर्भ में कहा है कि सरकार की मंशा देखकर लगता है कि सरकार किसी विशेष आरोपी को बचाने का प्रयास कर रही है।"

प्रेस कांफ्रेंस में प्रियंका गांधी ने कहा, "लखीमपुर में अन्नदाताओं के साथ हुई क्रूरता को पूरे देश ने देखा। किसानों को अपनी गाड़ी से कुचलने का मुख्य आरोपी आपकी सरकार के केंद्रीय गृह राज्य मंत्री आपकी सरकार के गृह राज्य मंत्री का बेटा है। राजनीतिक दबाव के चलते इस मामले में यूपी सरकार ने शुरुआत से ही न्याय की आवाज को दबाने की कोशिशि की है। माननीय उच्चत न्यायलय ने इस संदर्भ में कहा है कि सरकार की मंशा देखकर लगता है कि सरकार किसी विशेष आरोपी को बचाने का प्रयास कर रही है।"

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 20 Nov 2021, 11:40 AM