मॉब लिंचिंग के दोषियों को मोदी के मंत्री ने पहनाई माला, जेल से निकलते ही जयंत सिन्हा ने घर बुलाकर किया स्वागत

एक तरफ केंद्र सरकार देश में बढ़तीमॉब लिंचिंग की घटनाओं के लिए व्हाट्सएप जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को दोषी ठहरारही है और राज्य सरकारों के लिए एडवाइज़री जारी कर रही है, दूसरी तरफ मोदी सरकार के मंत्री मॉब लिंचिंग के दोषियों का माला पहनाकरस्वागत कर रहे हैं।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

मामला झारखंड के हजारीबाग है, जहां केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा ने मॉब लिंचिंग की सजा काट रहे 8 दोषियों के जमानत पर छूटने पर उनका अपने घर में माला पहनाकर स्वागत किया। हजारीबाग जिले के रामगढ़ में पिछले साल 27 जून को करीब 100 कथित गौरक्षकों की भीड़ ने पशु व्यापारी अलीमुद्दीन अंसारी को दिनदहाड़े पीट-पीटकर मार डाला था। जयंत सिन्हा हजारीबाग से बीजेपी सांसद हैं। मॉब लिंचिंग की इस भयावह घटना में फास्‍ट ट्रैक कोर्ट ने पांच महीने में सुनवाई पूरी करते हुए इस साल 21 मार्च को 11 लोगों को दोषी माना था और उन्हें उम्रकैद की सजा सुनाई थी।

इस मामले में दोषियों की तरफ से हाईकोर्ट का दरवाज़ा खटखटाया गया और अभी 29 जून को 11 में से 8 लोगों को जमानत मिल गई। बुधवार को ये सभी आठों जय प्रकाश नारायण सेंट्रल जेल से बाहर आए और सीधे केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा के घर पहुंचे। घर पहुंचने पर जयंत सिन्हा ने इन दोषियों का माला पहनाकर स्वागत किया। इन लोगों के साथ बीजेपी ओबीसी मोर्चा के अध्‍यक्ष अमरदीप यादव भी थे।

न्यूज 18 से बात करते हुए अमरदीप यादव ने कहा कि, “जयंत सिन्‍हा हमेशा मानते थे कि ये लोग निर्दोष हैं और इन्‍हें फंसाया गया है, इसलिए उन्‍होंने अपनी हैसियत से इन लोगों की कानूनी और आर्थिक मदद की।” यादव ने इन लोगों को निर्दोष बताते हुए कहा कि निर्दोष लोगों का साथ देने में कुछ गलत नहीं है। बाकी बचे तीन अन्‍य दोषियों पर यादव ने बताया कि उन्हें उम्‍मीद है कि उन्‍हें भी हाईकोर्ट से जमानत मिल जाएगी।

यादव ने दावा किया, “जयंत सिन्‍हा ने खुद इस मामले के कागजात देखे हैं और वकीलों से बात की है।”

जयंत सिन्हा द्वारा मॉब लिंचिंग के दोषियों का स्वागत करने से जबरदस्त राजनीतिक प्रतिक्रियाएं आई हैं। विपक्षी दलों ने जयंत सिन्‍हा और बीजेपी पर तीखा हमला बोला है। पूर्व मुख्‍यमंत्री और झारखंड मुक्ति मोर्चा के नेता हेमंत सोरेन ने न्‍यूज18 से बातचीत में कहा कि, यह काफी गंभीर मामला है और जो सिन्‍हा ने किया है वह किसी मंत्री को शोभा नहीं देता।

वहीं झारखंड कांग्रेस के अध्‍यक्ष डॉ अजॉय कुमार ने कहा कि झारखंड की रघुबर दास सरकार और केंद्र में नरेंद्र मोदी की सांप्रदायिक भावनाओं को भड़का रही है।

मॉब लिंचिंग के दोषियों को मोदी के मंत्री ने पहनाई माला, जेल से निकलते ही जयंत सिन्हा ने घर बुलाकर किया स्वागत

उन्‍होंने कहा, 'इस तरह के तत्‍वों को किसी भी तरह का समर्थन देना निंदनीय है। यह बीजेपी का असली रंग है। वे केवल चुनाव जीतना चाहते हैं और इसके लिए उनके नेता किसी भी सीमा को पार कर सकते हैं।'

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;