बालाकोट के बादलों पर मोदी की ‘एक्सपर्ट राय’ से सांसत में बीजेपी, रक्षा विशेषज्ञ भौंचक, विपक्ष ले रहा चुटकी

बीजेपी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस बयान से जुड़ा ट्वीट डिलीट कर दिया है, जिसमें वे बता रहे हैं कि बादलों की वजह से रडार काम नहीं करता, इसलिए मैंने खराब मौसम के बावजूद एयर स्ट्राइक करने का सिग्नल दिया था।

टीवी इंटरव्यू का स्क्रीनशॉट
टीवी इंटरव्यू का स्क्रीनशॉट
user

नवजीवन डेस्क

“हमारे मन में यह आया कि इस वेदर में हम जा पाएंगे कि नहीं जा पाएंगे। बाई एंड लार्ज ये ओपीनियन आया एक्सपर्ट का कि डेट बदल दे क्या? मेरे मन में दो विषय आए कि एक तो सीक्रेसी है, अभी तक तो सीक्रेट रहा, अगर सीक्रेट में कुछ लूज हुआ तो, अभी डेट बदल दें फिर हम कर भी नहीं पाएंगे। दूसरा मेरे मन में आया कि मैं एक्सपर्ट तो नहीं हूं, लेकिन मैंने कहा कि क्लाउड है, बारिश हो रही है, क्या हम राडार से बच सकते हैं, क्लाउड रडार से बच भी सकता है, क्लाउड बेनिफिट भी कर सकते हैं, तो मैंने कहा ठीक है....”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का यह वह बयान है जिसे लेकर देश भर में उनका मजाक उड़ रहा है। रक्षा विशेषज्ञ आश्चर्यचकित हैं, विपक्ष चुटकियां ले रहा है। दरअसल न्यूज़ चैनलों की दिए जा रहे इंटरव्यू की श्रंखला में पीएम ने शनिवार को एक और न्यूज़ चैनल को इंटरव्यू दिया। इस इंटरव्यू में बालाकोट एयर स्ट्राइक के बारे में बात करते हुए पीएम ने जो कुछ कहा, उससे हंगामा मचा हुआ है।

पीएम के इंटरव्यू के इस हिस्से को गुजरात बीजेपी ने ट्वीट किया। इस ट्वीट के सामने आते ही जब विपक्षी नेताओं ने उन पर धावा बोला तो घबराहट में बीजेपी ने इस ट्वीट को डिलीट कर दिया। एआईएमआईएम के नेता असदुद्दीन ओवैसी ने तो इस पर गहरी चुटकी ली। उन्होंने लिखा कि, 'सर आप तो गजब के एक्सपर्ट हैं, सर विनती है कि चौकीदार हटाइए और एयर चीफ मार्शल एंड प्रधान लगा दीजिए। क्या टॉनिक पीते हैं, आपकी बातों में रोजगार, अर्थव्यवस्था, औद्योगिक विकास और कृषि संकट के अलावा हर डिपार्टमेंट का फॉर्मूला है. लगे रहो मित्रों'

ओवैसी के बाद नेशनल कांफ्रेंस नेता उमर अब्दुल्ला ने भी लिखा कि, “लगता है कि ट्वीट भी बादलों में कहीं गुम हो गया है। किस्मत से इसका स्क्रीनशॉट चारों तरफ घूम रहा है।“

वहीं रक्षा मामलों पर लंबे समय से रिपोर्टिंग करते रहे पत्रकार विष्णु सोम ने लिखा कि, “मोदी जी, बादलों से रडार पर फर्क नहीं पड़ता है, हां इससे उन 6 क्रिस्टल मेज़ मिसाइलों को दागने पर फर्क पड़ा जो वायुसेना दाग नहीं पाई। इन मिसाइलों से होता यह कि जैसे ही यह किसी टारगेट को निशाना बनातीं तो पलटकर उसका फुटेज मिल जाता। दरअसल वायुसेना के एक्सपर्ट सही कह रहे थे कि एयर स्ट्राइक को टाल देना चाहिए। आपको इतनी जल्दी क्यों थी? ”

इसके अलावा सीपीएम नेता सीताराम येचुरी ने भी लिखा, “मोदी के शब्द काफी शर्मनाक हैं. क्योंकि उन्होंने एयरफोर्स को अज्ञान बताकर उसका अपमान किया है। फैक्ट ये है कि उन्होंने जो भी कहा वो खुद में एंटी नेशनल है। कोई भी देशभक्त ऐसा नहीं कर सकता है। मोदी जी की तरफ से गैरजिम्मेदाराना बयान। इस तरह का व्यक्ति भारत का प्रधानमंत्री नहीं रह सकता है।“

लोकप्रिय