मध्य प्रदेश में मानसून करीब, लेकिन खाद-बीज के दाम तय नहीं, सरकार केवल झूठा वादा कर रही है: कांग्रेस

कांग्रेस नेता ने कहा, मुख्यमंत्री, आप खुद को किसानों का बड़ा हितैषी बताते हैं, इसलिए आप यह भी बेहतर तरीके से समझ सकते हैं कि खेती की लागत लगातार बढ़ रही है, किसान निजी कंपनियों के चंगुल से निकल नहीं पा रहा है, सरकार केवल व्यवस्था सुधारने का झूठा वादा कर रही है!

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

मध्य प्रदेश में मानसून के मद्देनजर सोयाबीन की बोवनी की तैयारी के बीच कांग्रेस ने कहा है कि राज्य में अब तक बीज और खाद के दाम तय नहीं किए गए है।

कंग्रेस की प्रदेश इकाई के कार्यकारी अध्यक्ष व पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को एक पत्र लिखकर कहा है कि कृषि आधारित अर्थव्यवस्था वाले मध्यप्रदेश के किसान एक बार फिर आने वाले संकट को लेकर चिंतित हो रहे हैं। मानसून दस्तक देने वाला है, किसान सोयाबीन बोवनी की तैयारियों में जुटे हुए हैं, लेकिन आपकी सरकार ने अभी तक बीज के दाम तय नहीं किए है।

पटवारी ने कहा है, सोसायटियों पर उपलब्ध सुपरफास्फेट के दाम भी शासन स्तर पर अभी तक घोषित नहीं हो पाए हैं, इससे किसानों के सामने फिर दुविधा की स्थिति खड़ी हो गई है। चूंकि, हर साल की तरह इस बार भी सरकारी सिस्टम सो रहा है, इसलिए खाद और बीज की कालाबाजारी अभी से शुरू हो गई है। निजी कंपनियों ने बीज बाजार में उतार दिए हैं, उसे मनमाने दामों में बेचा भी जा रहा है।

उन्होंने पिछले साल के दामों का जिक्र करते हुए अपने पत्र में लिखा है, पिछले वर्ष सोयाबीन बीज के दाम करीब 7500 प्रति क्विटल तय किए थे, लेकिन निजी कंपनियों ने 10 से साढ़े 11 हजार रुपए प्रति क्विटल की दाम पर बीज बेचे थे।

पटवारी का कहना है कि राज्य के किसान सरकार से यह अपेक्षा कर रहे हैं कि खाद-बीज के दामों को लेकर निर्णय जल्दी हो और सरकार सस्ते दामों पर बीज उपलब्ध करवाने का सार्थक प्रयास भी करे।

कांग्रेस नेता ने कहा, मुख्यमंत्री, आप खुद को किसानों का बड़ा हितैषी बताते हैं, इसलिए आप यह भी बेहतर तरीके से समझ सकते हैं कि खेती की लागत लगातार बढ़ रही है, किसान निजी कंपनियों के चंगुल से निकल नहीं पा रहा है, सरकार केवल व्यवस्था सुधारने का झूठा वादा कर रही है!

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia