यूपी विधानसभा का मानसून सत्र कल से, कोरोना मौतों से लेकर कानून-व्यवस्था पर योगी को घेरने को तैयार विपक्ष

मानसून सत्र से पहले सर्वदलीय बैठक में समाजवादी पार्टी के नरेन्द्र सिंह वर्मा, बीएसपी के शाह आलम, कांग्रेस की आराधना मिश्रा मोना, सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के ओम प्रकाश राजभर और अपना दल (सोनेलाल) की लीना तिवारी ने सत्र के सुचारु संचालन में पूरा सहयोग देने का आश्वासन दिया।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश विधानसभा का मानसून सत्र 17 अगस्त से शुरू होने जा रहा है। कोरोना महामारी की दूसरी लहर के बाद मंगलवार से शुरू होने जा रहे इस सत्र के काफी हंगामेदार रहने की संभावना है। विपक्षी दलों के कोरोना प्रबंधन से लेकर मंहगाई समेत कई मुद्दों पर योगी सरकार पर हमलावर रहने की संभावना है।

मानसून सत्र के दौरान विधानसभा की कार्यवाही को सुचारु तरीके से संचालित करने के उद्देश्य से सोमवार को विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित की अध्यक्षता में विधान भवन में सर्वदलीय बैठक हुई। बैठक में विधानसभा अध्यक्ष ने सभी दलीय नेताओं से सदन के सुचारु संचालन में सहयोग देने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि सदन की कार्यवाही कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए सुनिश्चित की जाएगी।

इस मौके पर मुख्यमंत्री और नेता सदन योगी आदित्यनाथ ने सत्र के सुचारु संचालन में सत्ता पक्ष के पूरे सहयोग का आश्वासन देते हुए कहा कि प्रदेश में कोरोना महामारी की स्थिति नियंत्रित है और गति स्थिर हो चुकी है। लेकिन कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है। राज्य सरकार द्वारा कोरोना को नियंत्रित करने और बचाव के सभी उपाय किये गए हैं। उन्होंने कहा कि संसदीय परंपरा के क्रम में इस मानसून सत्र में विभिन्न मुद्दों पर चर्चा-परिचर्चा के लिए सरकार पूरी गंभीरता और विश्वास के साथ सदन की कार्यवाही को आगे बढ़ाने में मदद करेगी।


मुख्यमंत्री ने बैठक में सभी दलों के नेताओं का हृदय से स्वागत और अभिनंदन करते हुए कहा कि नियमत: उठाए जाने वाले जनकल्याणकारी मुद्दों पर सरकार सार्थक वार्ता करते हुए सदन के सदस्यों के अनुभवों का लाभ उठाएगी। सदन की उच्च गरिमा और मयार्दा को बनाए रखते हुए गंभीर चर्चा को आगे बढ़ाने से लोकतंत्र के प्रति आमजन की आस्था बढ़ती है। उन्होंने कहा कि आप सभी का सदन संचालन में सहयोग अपेक्षित है।

संसदीय कार्य मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने कहा कि प्रदेश में कोरोना नियंत्रित है। विगत चार वर्षों में प्रदेश की मजबूत कानून-व्यवस्था, निवेश की बढ़ती संभावनाओं से लेकर सभी क्षेत्रों में जनकल्याण को पोषित किया गया है। उन्होंने कहा कि सदन के सुचारु संचालन से सभी को सीखने का मौका मिलता है और इसके लिए विपक्ष का सहयोग जरूरी है।

बैठक में समाजवादी पार्टी के नरेन्द्र सिंह वर्मा, बहुजन समाज पार्टी के शाह आलम उर्फ 'गुड्डू जमाली', कांग्रेस की आराधना मिश्रा 'मोना', सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के ओम प्रकाश राजभर और अपना दल (सोनेलाल) की लीना तिवारी ने अपने-अपने दलों की ओर से विधानसभा सत्र के सुचारु संचालन में पूरा सहयोग प्रदान करने का आश्वासन दिया।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia