दिल्ली में कोरोना बेकाबू, फिर सामने आए 25000 से ज्यादा केस, चांदनी चौक समेत कई बाजार सोमवार से बंद रहेंगे

दिल्ली में कोरोना अनियंत्रित है। रविवार को भी राजधानी में कोरोना संक्रमण के 25 हजार से ज्यादा मामले सामने आए। इस बीच दिल्ली के व्यापारियों ने बैठक कर बाजार बंद रखने पर चर्चा की। चांदनी चौक समेत कई बाजारों को एक सप्ताह के लिए बंद करने का फैसला हुआ है।

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

दिल्ली में तेजी से बढ़ते जा रहे कोरोना के मामलों पर दिल्ली के व्यापारियों ने रविवार को एक महत्वपूर्ण बैठक की और बाजार बंद करने को लेकर चर्चा की। उन्होंने कोरोना के कहर से बचने के लिए सोमवार से बाजार बंद करने की घोषणा की। कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीण खंडेलवाल ने बताया, "रविवार को कैट ने दिल्ली के प्रमुख व्यापारी नेताओं के साथ एक जूम मीटिंग की, जिसमें काफी चर्चा के बाद यह निर्णय लिया गया कि दिल्ली के व्यापारी संगठन अपनी एसोसिएशन में चर्चा कर सोमवार तक अंतिम निर्णय लें।" कैट ने बताया, "इसी बीच चांदनी चौक सर्व व्यापार मंडल ने सोमवार से 25 अप्रैल तक चांदनी चौक में दुकानें बंद करने का निर्णय लिया।"

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images

वहीं दूसरी ओर पेपर, इलेक्ट्रिकल, ड्रग, इलेक्ट्रॉनिक्स, रेडियो, केमिकल, किराना, ऑप्टिकल्स, फुटवियर, साइकिल मार्केट, कार्ड मार्केट, सहित विभिन्न संगठनों एवं यमुनापार के कई संगठनों ने सोमवार से फिलहाल 21 अप्रैल तक बाजार बंद रखने की घोषणा की है। इस संबंध में दिल्ली के अन्य कई संगठन भी स्वत : लॉकडाउन कर रहे हैं और काफी संगठनों की सोमवार को मीटिंग है, जिसमें अपने स्तर पर लॉकडाउन लगाने पर निर्णय लिया जाएगा।

खंडेलवाल ने कहा, "यह किसी सरकार का विरोध नहीं है, बल्कि व्यापारी संगठन अपने लिए कोरोना से बचाव के रूप में अपना मार्केट स्वयं बंद कर रहे हैं।" हालांकि सोमवार को दोपहर बाद 3 बजे कैट ने फिर दिल्ली के व्यापारियों की एक मीटिंग बुलाई है। कॉन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने रविवार को दिल्ली के उपराजयपाल अनिल बैजल और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को पत्र भेजकर आग्रह किया था कि दिल्ली के मौजूदा हालात को देखते हुए दिल्ली में 15 दिन का लॉकडाउन लगाया जाए।

(आईएएनएस इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय