निजामुद्दीन मरकज में हरियाणा से भी 500 से अधिक लोग थे शामिल, 72 विदेशियों समेत सब को किया गया क्‍वारंटाइन

राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज से कोरोना संक्रमण की निकली दहशत से पूरा हरियाणा सहम गया है। जैसे ही खबर फैली कि राज्‍य से भी 500 से अधिक लोग मरकज में हुए कार्यक्रम में शामिल हुए थे, यहां लोग आशंका से ग्रस्‍त हो गए हैं।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

धीरेंद्र अवस्थी

दिल्‍ली के निजामुद्दीन इलाके के मरकज से निकला कोरोना पॉजिटिव मरीजों का खौफ पूरे देश के साथ हरियाणा में भी व्‍याप्‍त हो गया है। हरियाणा से 503 लोग मरकज में आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए थे। इनमें 72 लोग विदेशी बताए जा रहे हैं। इनमें से कुछ लोगों को आईसोलेशन वार्ड में दाखिल किया जा चुका, जबकि शेष को क्‍वारंटाइन कर दिया गया है। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री अनिल विज के मुताबिक विभाग की टीमें इस पर काम कर रही हैं।

राष्‍ट्रीय राजधानी क्षेत्र में राज्‍य का आधे से ज्‍यादा हिस्‍सा आने के चलते हरियाणा को पहले ही बेहद संवेदनशील माना जा रहा था। अब दिल्‍ली में तबलीगी जमात के मरकज से कोरोना संक्रमण की निकली दहशत से पूरा हरियाणा सहम गया है। जैसे ही यह बात निकल कर आई कि राज्‍य से 500 से अधिक लोग मरकज में शामिल हुए हैं, यहां भी लोग आशंका से ग्रस्‍त हो गए हैं।

दिल्ली से सटे गुरुग्राम में मरकज से लौटे लोगों के संपर्क में आने वाले तकरीबन तीन दर्जन लोगों को क्‍वारंटाईन किया गया है। अंबाला में बांग्‍लादेश, श्रीलंका और नेपाल के तबलीगी जमात से जुड़े लोग डेरा जमाए हैं। यह लोग 11 मार्च को यहां आए बताए जा रहे हैं। मस्जिदों में चेक करने पर 24 ऐसे लोग मिले हैं। सभी को क्‍वारंटाइन कर दिया गया है। इनमें से कई में खांसी-जुकाम के लक्षण मिले हैं।

इसके अलावा पानीपत से 10 लोगों के मरकज में शामिल होने की बात सामने आई है। सभी को क्‍वारंटाइन करने के साथ ही इनके घरों के बाहर नोटिस भी चस्‍पा कर दिया गया है। पलवल में मरकज से लौटे 10 बांग्‍लादेशियों समेत दर्जन भर लोगों को जिला अस्‍पताल के आइसोलेशन वार्ड में दाखिल किया गया है। ब्‍लड सैंपल जांच के लिए पीजीआई रोहतक भेजे गए हैं। तीन लोगों में कोरोना वायरस के लक्षण बताए जा रहे हैं।

ताजा हालात पर टीवी के माध्‍यम से लोगों को संबोधित करते हुए सीएम मनोहर लाल खट्टर ने भी कहा कि दिल्ली के निजामुद्दीन से हरियाणा आए 500 से अधिक लोगों को न्यूनतम 14 दिनों की अवधि के लिए क्वारंटाइन में भेज दिया गया है। इस दौरान किसी भी होटल, मस्जिद या अपने घरों में उन्हें नहीं जाने दिया जाएगा। दिल्ली में निजामुद्दीन क्षेत्र की असावधानी का उल्लेख करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें पुलिस और खुफिया विभाग से इनपुट मिले हैं कि कुछ कोरोना पॉजिटिव लोगों ने मार्च के महीने में राजधानी दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में एक जमात में भाग लिया।

सीएम ने हरियाणा की स्थिति बताते हुए कहा कि वर्तमान में लगभग 13,000 लोगों को निगरानी में रखा गया है और 323 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 694 लोगों के नमूने लिए गए हैं, जो कोरोना पॉजिटिव रोगियों के संपर्क में आए हैं और जिनमें से 543 की रिपोर्ट निगेटिव आई है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में राज्य में पॉजिटिव मामलों की संख्या 16 है, क्योंकि कुल 29 ऐसे मामलों में से 13 रोगियों को अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई है।

मुख्यमंत्री ने घोषणा की है कि अब निजी अस्पतालों में काम करने वाले डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिक्स और अन्य स्टाफ को भी क्रमश: 50 लाख, 30 लाख, 20 लाख और 10 लाख रुपये की एक्सग्रेशिया राशि का लाभ मिलेगा, अगर वे भारत सरकार द्वारा शुरू किये गए 50 लाख रुपये के नए बीमा कवर में नहीं आते हैं। उन्होंने निजी अस्पतालों से आग्रह करते हुए कहा कि वे कोरोना प्रभावित रोगियों को चिकित्सा देखभाल से मना न करें।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia