मुख्तार अंसारी एंबुलेंस मामला: मऊ में डॉक्टर अलका राय का नर्सिग होम सील, कोर्ट के आदेश पर हुई कार्रवाई

बाराबंकी के जिलाधिकारी ने 29 सितंबर को पुलिस अधिकारियों को अस्पताल को सील करने का आदेश दिया था। मऊ अंचल अधिकारी धनंजय मिश्रा पुलिस कर्मियों के साथ नर्सिग होम पहुंचे और अस्पताल में मौजूद अलका राय के समक्ष सीलिंग का आदेश पेश किया।

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश के मऊ जिले में गैंगस्टर से नेता बने मुख्तार अंसारी को एंबुलेंस मुहैया कराने वाले अस्पताल को पुलिस ने सील कर दिया है। अंसारी को एंबुलेंस दिलाने में मदद करने वाली मऊ की डॉक्टर अलका राय के साथ ही शेषनाथ राय पर गैंगस्टर एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है।

पुलिस ने कहा कि दोनों मऊ जिले के श्याम संजीवनी अस्पताल के सह-मालिक हैं, जिसे सील कर दिया गया है। वाहन को बाराबंकी जिले में एक नकली पते पर पंजीकृत कराया गया था।

बाराबंकी के जिलाधिकारी ने 29 सितंबर को पुलिस अधिकारियों को अस्पताल को सील करने का आदेश दिया था।


मऊ अंचल अधिकारी धनंजय मिश्रा पुलिस कर्मियों के साथ नर्सिग होम पहुंचे और अस्पताल में मौजूद अलका राय के समक्ष सीलिंग का आदेश पेश किया। मिश्रा ने कहा, "श्याम संजीवनी अस्पताल को बाराबंकी के जिलाधिकारी के आदेश पर सील कर दिया गया है।"

अप्रैल 2021 में बाराबंकी पुलिस ने नकली कागजात के उपयोग के संबंध में अंसारी और उसके सहयोगियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;