मुंबई में प्रवासी मजदूरों को भड़काने वाला गिरफ्तार, ‘घर चलो’ कैंपेन से फैलाई अफवाह, मराठी चैनल की खबर ने भी उकसाया

मुंबई में मंगलवार को हजारों प्रवासी मजदूरों को जमा होन के लिए उकसाने वाले एक शख्स को गिरफ्तार कर लिया गया है। यह शख्स लोगों को गुमराह करने का कैंपने चला रहा था। वहीं एक मराठी चैनल की एक खबर ने भी मजदूरों को उकसाने का काम किया।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लॉकडाउन-2 की घोषणा के चंद घंटों के अंदर ही मुंबई के बांद्रा स्टेशन पर हजारों की तादाद में प्रवासी मजदूर जमा हो गए, जिन्हें बमुश्किल समझा-बुझाकर वापस भेजा गया। इन मजदूरों को उम्मीद जगी थी कि उनके लिए विशेष ट्रेन चलने वाली है। हालात बेकाबू होने के कगार पर पहुंच गए थे, जिसके बाद पुलिस को हलका बल प्रयोग करना पड़ा था, और घंटे भर में ही इन मजदूरों को उनके ठिकानों पर वापस भेज दिया गया। मुंबई पुलिस ने इस सिलसिले में पुलिस ने विनय दुबे नाम के एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है।

विनय दुबे को नवी मुंबई पुलिस ने हिरासत में लेकर मुंबई पुलिस को सौंप दिया. लॉकडाउन के बीच विनय दुबे पर भीड़ को गुमराह करने का आरोप है। जानकारी के मुताबिक विनय दुबे 'चलो घर की ओर' कैंपेन चला रहा था। उसने अपने फेसबुक पर शेयर किए गए पोस्ट में टीम के बांद्रा में होने की बात कही थी। इस मामले में पुलिस ने करीब एक हजार लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है, जबकि दुबे के खिलाफ आईपीसी की धारा 117, 153 ए, 188, 269, 270, 505(2) और एपिडेमिक एक्ट की धारा 3 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है.

सोशल मीडिया प्राप्त न्यूज चैनल की खबर का स्क्रीनशॉट (नवजीवन इस खबर की स्वतंत्र रूप से पुष्टि नहीं करता है)
सोशल मीडिया प्राप्त न्यूज चैनल की खबर का स्क्रीनशॉट (नवजीवन इस खबर की स्वतंत्र रूप से पुष्टि नहीं करता है)

इस बीच खबर मिली है कि एक मराठी न्यूज चैनल ने भी विशेष ट्रेन चलाने की बात कही थी। इस चैनल ने प्रधानमंत्री का भाषण खत्म होने के फौरन बाद एक न्यूज चैनल ने खबर चलाई थी कि प्रवासी मजदूरों के लिए विशेष ट्रेन चलाने का फैसला हो गया है। जिसके बाद भारी तादाद में मजदूर स्टेशन पर जमा हो गए थे।

वहीं वरिष्ठ पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने भी एक सरकारी पत्र को अपने ट्विटर पर शेयर किया है जिसमें कहा गया है कि तेलंगाना के सिकंदराबाद रेल डिवीजन का एक पत्र सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था जिसमें कहा गया था कि अलग-अलग जगहों पर फंसे प्रवासी मजदूरों के लिए जनसाधारण ट्रेनें चलाई जाएंगी। इसके बाद फैली अफवाह ने बाकी काम कर दिया।

मुंबई में मजदूरों के जमा होने पर महाराष्ट्र सरकार में मंत्री आदित्य ठाकरे ने ट्वीट कर केंद्र सरकार पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा था कि गुजरात के सूरत में हाल में कुछ मजदूरों ने हंगामा किया था, केंद्र सरकार उन्हें घर पहुंचाने को लेकर फैसला नहीं ले पाई।

वहीं बाद में महाराष्ट्र मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने इस देर शाम एक प्रेस कांफ्रेंस कर प्रवासी मजदूरों को भरोसा दिलाया कि उनके रहने और खाने का प्रबंध हो रहा है और 3 मई तक जारी लॉकडाउन से पहले कोई भी ट्रेन नहीं चलने वाली है। उन्होंने मामले की जांच के आदेश भी दिए थे, जिसके बाद विनय दुबे नाम के शख्स को गिरफ्तार किया गया है। विनय दुबे को आज कोर्ट में पेश किया जाएगा।

लोकप्रिय
next