मुंबई पुलिस ने रेमडेसिवीर का बड़ा जखीरा किया जब्त, कोरोना संकट में जमाखोरों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के भयावह कहर के बीच रेमडेसिविर इंजेक्शन की भारी कमी देखी जा रही है। केंद्र द्वारा पिछले सप्ताह इंजेक्शन पर मूल्य नियंत्रण का आदेश देने के बावजूद आपूर्ति अनियमित बनी हुई है। इस बीच कई जगह जमाखोरी की भी खबरें आ रही हैं।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

महाराष्ट्र में जारी कोरोना संकट के बाच जमाखोरों के खिलाफ अभियान जारी रखते हुए महाराष्ट्र पुलिस के साथ महाराष्ट्र खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) ने दो स्थानों पर छापेमारी कर भारी मात्रा में रेमडिसविर इंजेक्शन का जखीरा बरामद किया है। पहली कार्रवाई में पुलिस-एफडीए टीमों ने एक निर्यातक के परिसर की घेराबंदी की और अंधेरी पूर्व में मारोल से रेमडेसिविर की 2,000 शीशियों को बरामद किया।

वहीं, दूसरी कार्रवाई में पुलिस और एफडीए की टीमों ने मरीन लाइन्स, दक्षिण मुंबई में स्थित एक अन्य निर्यातक के यहां छापा मारा और इंजेक्शन की 200 शीशियों को जब्त किया। मुंबई पुलिस के प्रवक्ता चैतन्य एस ने कहा कि रेमडेसिविर की इन 2,200 शीशियों को एफडीए ने अपने कब्जे में ले लिया है और इन्हें सरकारी अस्पतालों में इस्तेमाल के लिए वितरित किया जाएगा।


मुंबई पुलिस ने बताया कि रेमडेसिविर इंजेक्शन की इन शीशियों को निर्यात उद्देश्यों के लिए निर्मित किया गया था, लेकिन वर्तमान प्रतिबंधों के कारण, उन्हें निर्यात फर्मों द्वारा स्टॉक कर रखा गया था, लेकिन अब एफडीए आवश्यक प्रोटोकॉल का पालन करके सार्वजनिक उपयोग के लिए भेज रहा है।"

बता दें कि वर्तमान में महाराष्ट्र में जारी कोरोना वायरस के कहर में राज्य को रेमडेसिविर की भारी कमी का सामना करना पड़ रहा है और केंद्र द्वारा पिछले सप्ताह इंजेक्शन पर मूल्य नियंत्रण का आदेश देने के बावजूद आपूर्ति अनियमित बनी हुई है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia