महाराष्ट्र में सियासी हलचल के बीच NCP प्रमुख शरद पवार से मिले शिवसेना नेता संजय राउत, अटकलें तेज

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से मुलाकात से पहले शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि हम केवल उस प्रस्ताव पर चर्चा करेंगे जिस पर हमने विधानसभा चुनाव से पहले सहमति व्यक्त की थी। अब नए प्रस्तावों का आदान-प्रदान नहीं किया जाएगा।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

महाराष्ट्र में सियासी हलचल के बीच शिवसेना के नेता संजय राउत ने मुंबई में एनसीपी प्रमुख शरद पवार से उनके आवास पर मुलाकात की है। मुलाकात के बाद उन्होंने कहा, “वह (शरद पवार) राज्य और देश के वरिष्ठ नेता हैं। वह महाराष्ट्र की राजनीतिक स्थिति से चिंतित हैं। हमने उनसे इस बारे में चर्चा की है।”

इस मुलाकात के साथ ही अटकलें तेज हो गई हैं। गौर करने वाली बात यह है कि शरद पवार और संजय राउत के बीच यह मुलाकात ऐसे समय में हो रही है, जब नितिन गडकरी को शिवसेना के साथ बैठक करनी है।

महाराष्ट्र में सीएम की कुर्सी को लेकर शिवसेना और बीजेपी के बीच सियासी जंग जारी है। नितिन गडकरी के साथ होने वाली बैठक से पहले एक बार फिर शिवसेना ने अपना रुख साफ कर दिया है। शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा, “हम केवल उस प्रस्ताव पर चर्चा करेंगे जिस पर हमने विधानसभा चुनाव से पहले सहमति व्यक्त की थी। अब नए प्रस्तावों का आदान-प्रदान नहीं किया जाएगा। बीजेपी और शिवसेना ने चुनावों से पहले सीएम के पद पर एक समझौता किया था और उसके बाद ही हम चुनाव के लिए गठबंधन के लिए आगे बढ़े।”

संजय राउत के इस बयाने से साफ हो गया है कि अगर बीजेपी की ओर से नितिन गडकर कोई नया प्रस्ताव लेकर आते हैं तो शिवसेना उस पर हामी नहीं भरेगी। उनके इस बयान से यह भी साफ हो गया है कि शिवसेना सीएम पद को लेकर कोई समझौता नहीं करने जा रही है।

खबरों के मुताबिक, शिवसेना और बीजेपी के बीच खड़ी दीवार को खत्म करने की एक बार फिर से कोशिशें तेज हो गई हैं। बताया जा रहा है कि आज शिवसेना के साथ केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी बैठक कर सकते हैं। खबरों में कहा गया है कि संघ ने बीजेपी और शिवसेना के बीच के झगड़े को सुलझाने के लिए गडकरी को कामान सौंपी है। ऐसी संभावना जताई जा रही हैं कि गडकरी न सिर्फ बीजेपी का प्रस्ताव रखेंगे, बल्कि शिवसेना के नेताओं को समझाने की भी कोशिश करेंगे।

इससे पहले शिवसेना ने संघ प्रमुख को पत्र लिखकर मामला सुलझाने और मध्यस्थता करने के लिए नितिन गडकरी को जिम्मेदारी सौंपने का आग्रह किया था, वहीं देवेदेंर फडणविस ने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात के बाद कहा था कि जल्द ही महाराष्ट्र में सरकार बन जाएगी। इसके बाद मंगलवार देर शाम देवेंद्र फडणविस ने पार्टी कोर कमेटी की बैठक बुलाई और उसके बाद सीधे संघ की शरण में जा पहुंचे।

Published: 6 Nov 2019, 11:31 AM
लोकप्रिय