केंद्र सरकार के निर्देश पर टला दिल्ली में नगर निगम चुनाव? आप बोली- आज का दिन लोकतंत्र की हत्या का दिन

दिल्ली में नगर निगम के चुनावों की तारीखों की घोषणा आज नहीं हो सकी। चुनाव को लेकर चुनाव आयोग ने बड़ी जानकारी दी है। राज्य आयुक्त एसके श्रीवास्तव ने कहा कि केंद्र सरकार ने कुछ निर्देश आए हैं, इस कारण इन तारीखों का ऐलान नहीं हो सका।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

दिल्ली में नगर निगम के चुनावों की तारीखों की घोषणा आज नहीं हो सकी। चुनाव को लेकर चुनाव आयोग ने बड़ी जानकारी दी है। राज्य आयुक्त एसके श्रीवास्तव ने कहा कि केंद्र सरकार ने कुछ निर्देश आए हैं, इस कारण इन तारीखों का ऐलान नहीं हो सका। कुछ बदलाव भी होने हैं। जिनकी कानूनी रूप से जांच की जानी बाकी है। हालांकि दिल्ली में चुनाव 18 मई से पहले कराने होंगे और अगले 5 से 7 दिनों में दिल्ली में चुनाव की तारीखों का ऐलान हो सकता है। राज्य चुनाव आयोग की तरफ से यह भी जानकारी दी गई है कि, केंद्र सरकार की ओर से एक पत्र प्राप्त हुआ है। दिल्ली की तीनों निगमों को एक किया जा सकता है। इसलिए उपराज्यपाल के लिखित पत्र को लीगल ओपिनियन के लिए भेजा है।

दिल्ली में केंद्र सरकार के हस्तक्षेप से एमसीडी इलेश्न टलने के बाद सियासी घमासान शुरू हो गया है। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि चुनाव आयोग की एक हरकत की वजह से आज का दिन लोकतंत्र की हत्या का दिन बन गया। उन्होंने कहा कि आज़ाद भारत के इतिहास में आज पहली बार हुआ है कि देश का चुनाव आयोग केंद्र में बैठी भाजपा सरकार से डर गया और उसने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके MCD के चुनाव कराने से मना कर दिया।


वहीं सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी केंद्र सरकार और चुनाव आयोग पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि क्या चुनाव आयोग को चुनाव टालने या न कराने के लिए केंद्र सरकार निर्देश दे सकती है? ये किस प्रावधान के तहत है? उन्होंने ये भी सवाल किया कि क्या ये दिशानिर्देश चुनाव आयोग के लिए बाध्यकारी हैं? चुनाव आयोग दबाव में क्यों झुक रहा है?

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री पर हमला बोलते हुए कहा कि मोदीजी, अब इस देश में चुनाव भी नहीं कराएंगे?

बता दें कि दिल्ली की तीन नगर निगमों की कुल 272 वार्ड है, इस बार के नगर निगम चुनावों में 10.4 करोड़ से अधिक मतदाता हैं। साल 2017 के नगरपालिका चुनावों में भाजपा ने प्रभावशाली जीत दर्ज की थी और राजधानी के तीन निगमों में 272 वाडरें में से 181 सीटों पर जीत दर्ज की थी। वहीं, आप को दूसरा और कांग्रेस को तीसरा स्थान मिला था।

एमसीडी तीन नगर निगमों में विभाजित है, उत्तरी और दक्षिणी दिल्ली नगर निगमों में प्रत्येक में 104 वार्ड हैं जबकि पूर्वी दिल्ली नगर निगम में 64 वार्ड हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia