राजनीतिक बदले की भावना से हुई मेरे पिता की गिरफ्तारी : कार्ति चिदंबरम 

पूर्व केंद्रीय वित्तमंत्री पी. चिदंबरम के पुत्र कार्ति चिदंबरम ने कहा है कि उनके पिता को जिस नाटकीय ढंग से गिरफ्तार किया गया, वह सिर्फ राजनीतिक बदले की भावना से प्रेरित है। कार्ति ने कहा कि कथित कृत्य 2008 में हुआ और उसमें अब तक कोई आरोप नहीं है।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

पूर्व केंद्रीय वित्तमंत्री पी. चिदंबरम के पुत्र कार्ति चिदंबरम ने बुधवार को कहा कि उनके पिता को जिस नाटकीय ढंग से गिरफ्तार किया गया, वह सिर्फ राजनीतिक बदले की भावना से प्रेरित है। संवाददाताओं से बातचीत में कार्ति चिदंबरम ने कहा कि कथित कृत्य 2008 में हुआ और उसमें अब तक कोई आरोप नहीं है।

उन्होंने मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा उनसे की गई पूछताछ को याद करते हुए कहा कि सीबीआई ने उन्हें कई बार बुलाया और हर बार करीब 10 घंटे जांच एजेंसी के दफ्तर में पूछताछ की गई। उन्होंने कहा, "लेकिन आज तक कोई आरोपपत्र नहीं है, जिसका मतलब है कि कोई केस नहीं है।"

कार्ति चिदंबरम ने कहा कि गिरफ्तारी सरकार में किसी को संतुष्ट करने के लिए की गई है। उन्होंने कहा कि गंभीर मसलों से देश का ध्यान भटकाने के लिए यह गिरफ्तारी हुई है। उन्होंने इस बात से इन्कार किया कि दिल्ली उच्च न्यायालय द्वारा अग्रिम जमानत खारिज होने के बाद उनके पिता मंगलवार रात से फरार थे। सुप्रीम कोर्ट से भी उनको कोई राहत नहीं मिली।

इससे पहले कार्ति ने ट्वीट के जरिए कहा कि जांच एजेंसियों ने कुछ लोगों के आनंद के लिए मनोरंजक ड्रामा रचा। कार्ति ने यह बात आईएनएक्स मीडिया मामले में पी. चिदंबरम की गिरफ्तारी के सिलसिले में कही। उन्होंने चिदंबरम की मदद करने के लिए कांग्रेस पार्टी का आभार जताया। उन्होंने ट्वीट में कहा, "ड्रामा और दृश्य एजेंसियों द्वारा घटना को सनसनीखेज बनाने और कुछ रतिक लोगों के आनंद के लिए रचे गए।"

कार्ति चिदंबरम ने अपने पिता और पूर्व वित्त एंव गृह मंत्री पी चिदंबरम का वह बयान भी साझा किया है जो उन्होंने गिरफ्तारी से पहले कांग्रेस मुख्यालय पर अनायास हुई प्रेस कांफ्रेंस में दिया था।

Published: 21 Aug 2019, 11:45 PM
लोकप्रिय