उत्तर प्रदेश में रहस्यमय बुखार का कहर, फिरोजाबाद में 33 बच्चों की मौत, 7 वयस्कों की भी गई जान

मथुरा, फिरोजाबाद और मैनपुरी सहित पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों में 'वायरल फीवर' के मामलों में तेजी देखी गई है, जिस कारण सरकार ने खतरे से आगाह किया है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को पुष्टि की कि जिले में रहस्यमय डेंगू जैसे बुखार से फिरोजाबाद में 32 बच्चों और सात वयस्कों की मौत हुई है। आदित्यनाथ ने अपने सदस्यों को खोने वालों के परिवारों से मुलाकात की और उन्हें मदद का आश्वासन दिया।

मुख्यमंत्री ने फिरोजाबाद में 100 बिस्तरों वाले जिला अस्पताल का भी दौरा किया, जहां बीमारी के लक्षण दिखाने वाले बच्चों का इलाज किया जा रहा है। कथित तौर पर रहस्यमयी बुखार के कारण इस अस्पताल में हाल ही में कम से कम 30 बच्चों की जान चली गई। मुख्यमंत्री ने संवाददाताओं से कहा, "फिरोजाबाद के जिला अस्पताल में समर्पित कोविड-19 वार्ड इस बुखार से पीड़ित मरीजों के लिए आरक्षित है।"

मथुरा, फिरोजाबाद और मैनपुरी सहित पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों में 'वायरल फीवर' के मामलों में तेजी देखी गई है, जिस कारण सरकार ने खतरे से आगाह किया है। फिरोजाबाद से बीजेपी विधायक मनीष असिजा ने रविवार को दावा किया था कि पिछले हफ्ते इस बीमारी से 40 बच्चों की मौत हुई थी। इस दावे का खंडन यूपी के स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने किया। उन्होंने असिजा के दावों को 'गलत' करार दिया और कहा कि उन्हें ऐसी कोई रिपोर्ट नहीं मिली है।


फिरोजाबाद के जिलाधिकारी चंद्र विजय सिंह ने इस बात से इनकार किया कि यह महामारी की तीसरी लहर है। उन्होंने कहा, "भारी बारिश और जलजमाव के कारण बच्चों में तेज बुखार का कारण डेंगू और मलेरिया है।" स्वास्थ्य टीमों ने मरीजों का कोविड परीक्षण किया है, लेकिन वे सभी कोरोना नेगेटिव पाए गए हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia