मैसूर सामूहिक दुष्कर्म: कर्नाटक पुलिस ने एक और आरोपी को किया गिरफ्तार, घटना के सामने आने के बाद से था गायब

गिरफ्तार आरोपियों ने पूछताछ के दौरान मामले में एक और 7वें आरोपी की संलिप्तता का खुलासा किया है। फिलहाल वह फरार है और उसकी गिरफ्तारी के लिए भी टीमें लगा दी गई हैं। इससे पहले इस केस में 28 अगस्त को तमिलनाडु के तिरुपुर जिले से एक किशोर सहित पांच लोगों को गिरफ्तार किया था।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

आईएएनएस

सनसनीखेज मैसूर सामूहिक दुष्कर्म मामले की जांच कर रही विशेष टीमों ने इस सिलसिले में एक अन्य आरोपी को गिरफ्तार किया है। पुलिस सूत्रों ने मंगलवार को यह जानकारी दी। छठे आरोपी को भी पुलिस द्वारा ट्रैक किए जाने के बाद सोमवार रात को तमिलनाडु से गिरफ्तार किया गया है। घटना के सामने आने के बाद वह गायब हो गया था।

गिरफ्तार आरोपियों ने पूछताछ के दौरान मामले में एक और 7वें आरोपी की संलिप्तता का खुलासा किया है। फिलहाल वह फरार है और उसकी गिरफ्तारी के लिए भी टीमें लगा दी गई हैं।
मैसूर सामूहिक दुष्कर्म मामले की जांच कर रहे विशेष जांच दल ने 28 अगस्त को तमिलनाडु के तिरुपुर जिले से एक किशोर सहित पांच लोगों को गिरफ्तार किया था।

सामूहिक दुष्कर्म की घटना मैसूर के बाहरी इलाके में 24 अगस्त को ललिताद्रिपुरा मोहल्ले के पास चामुंडी पहाड़ी की तलहटी में हुई थी, जहां एक छात्रा अपने दोस्त के साथ गई हुई थी। गिरोह ने युवक के साथ मारपीट की थी और 3 लाख रुपये की फिरौती मांगी थी। रुपये नहीं मिलने पर आरोपितों ने कथित तौर पर कॉलेज की छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया।

इस बीच, कर्नाटक के गृह मंत्री अरागा ज्ञानेंद्र ने कहा है कि पुलिस विभाग सामूहिक दुष्कर्म की पीड़िता को बयान दर्ज कराने के लिए मजबूर नहीं कर सकता। उन्होंने कहा, "हम पीड़ित पर जोर नहीं देंगे।" गृह मंत्री ने कहा कि आरोपियों की गिरफ्तारी से समाज में बड़ा संदेश गया है। उन्होंने कहा, "अगर किसी को लगता है कि वे किसी भी अपराध से बच सकते हैं, तो वे गलत हैं।"

जांच में यह बात सामने आई है कि आरोपी सड़क पर डकैती, छेड़छाड़ जैसे कई अपराधों में शामिल थे। मामले में आगे की जांच जारी है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia