NCB ने आर्यन पर लगाया 'ड्रग्स तस्करी' का आरोप, इसलिए कुछ नहीं मिलने पर भी बेल में हो रही है देरी

एनसीबी ने बॉलीवुड स्टार शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान की जमानत पर सुनवाई के दौरान उन पर अन्य के साथ अवैध मादक पदार्थो की तस्करी और खरीद-बिक्री में शामिल होने का आरोप लगाया। यही वजह है कि आर्यन के पास कोई ड्रग्स नहीं मिलने पर भी उनकी बेल में देरी हो रही है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने बुधवार को क्रूज जहाज ड्रग्स मामले में गिरफ्तार एक्टर शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान और अन्य लोगों की जमानत पर सुनवाई के दौरान कोर्ट में आर्यन पर प्रथम दृष्टया अवैध मादक पदार्थो की तस्करी, खरीद और बिक्री में शामिल होने का आरोप लगाया है। एजेंसी ने आर्यन खान पर विदेशों में कुछ ऐसे लोगों के संपर्क में रहने का भी आरोप लगाया जो एक अंतर्राष्ट्रीय अवैध ड्रग सिंडिकेट का हिस्सा हो सकते हैं। एजेंसी ने कहा कि विदेशी गिरोहों से लिंक का पता लगाने के लिए आगे की जांच जारी है।

एनसीबी का यह बयान आर्यन खान, अरबाज मर्चेट, मुनमुन धमेचा, मोहक जसवाल, नूपुर सतीजा, आचित कुमार, श्रेयस नायर और अविन साहू की जमानत अर्जी पर विशेष एनडीपीएस न्यायाधीश वी.वी. पाटिल के समक्ष सुनवाई के दौरान आया। चूंकि आज दलीलें अधूरी रह गईं, इसलिए मामला गुरुवार दोपहर तक के लिए टाल दिया गया, जिसके बाद 2 अक्टूबर से हिरासत में लिए गए और बाद में गिरफ्तार किए गए आर्यन खान और अन्य 7 लोग कल शाम तक जेल में ही रहेंगे।

आज सुनवाई के दौरान आर्यन खान के वकीलों, वरिष्ठ अधिवक्ता अमित देसाई और सतीश मानेशिंदे ने तर्क दिया कि आर्यन खान क्रूज जहाज पर रेव पार्टी के छापे के दौरान मौजूद नहीं थे, न ही ड्रग्स खरीदने के लिए उनके पास कोई नकदी बरामद हुई, न ही उनके पास कोई नशीला पदार्थ मिला था।

एनसीबी ने जमानत अर्जी का विरोध करते हुए कहा कि व्हाट्सएप चैट, फोटो आदि के रूप में प्रथम दृष्टया पर्याप्त भौतिक सबूत हैं जो दिखाते हैं कि आर्यन खान अन्य आरोपियों के साथ अवैध ड्रग्स श्रृंखला का एक सक्रिय लिंक थे। एजेंसी ने कहा, "आर्यन खान मर्चेट से ड्रग्स की खरीद करता था। उसके पास से 5 ग्राम चरस बरामद किया गया था और वे दोनों निकटता से जुड़े हुए हैं जो कि अपराध करने के लिए पर्याप्त है, जबकि आचित कुमार, खान के बयान के बाद 2.6 ग्राम गांजा के साथ पकड़ा गया था।"


एजेंसी ने कहा कि अन्य आपूर्तिकर्ताओं और आरोपियों की गिरफ्तारी एक बड़ी श्रृंखला, सांठगांठ और साजिश में शामिल होने का हिस्सा है। चूंकि वाणिज्यिक मात्रा में ड्रग्स की जब्ती हुई थी, एक व्यक्ति (आर्यन खान) से ड्रग्स की गैर-वसूली को अलग-थलग नहीं माना जा सकता, क्योंकि सभी एक-दूसरे के साथ जुड़े हुए हैं और 'अटूट रूप से जुड़े हुए हैं'। आर्यन खान की जमानत का कड़ा विरोध करते हुए एनसीबी ने कहा, "चूंकि वह एक प्रभावशाली व्यक्ति है, इसलिए वह सबूतों से छेड़छाड़ कर सकता है या गवाहों को प्रभावित कर सकता है और न्याय से भाग सकता है।"

हालांकि, आर्यन के वकील अमित देसाई ने मादक पदार्थो की तस्करी के एनसीबी के आरोपों को स्वाभाविक रूप से बेतुका और झूठा करार दिया, क्योंकि वह छापे के दौरान जहाज पर भी नहीं था, लेकिन एनसीबी ने कहा कि आर्यन खान मर्चेट से अपने लिए दवाएं प्राप्त करता था।

बता दें कि आर्यन खान को अरबाज मर्चेट, मुनमुन धमेचा, सतीजा, जसवाल, इश्मीत सिंह चड्ढा, विक्रांत छोकर और गोमित चोपड़ा के साथ 2 अक्टूबर को हिरासत में लेने के बाद 3 अक्टूबर को गिरफ्तार किया गया था और 7 अक्टूबर को मुंबई मजिस्ट्रेट द्वारा 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था। एनसीबी ने इस सिलसिले में अब तक लगभग 20 गिरफ्तारियां की हैं और सभी आरोपी अलग-अलग तरह की हिरासत में हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia