ड्रग्स केस में NCB की प्रेस कॉन्फ्रेंस; उप महानिदेशक बोले- सिस्टम को करना है क्लीन, वानखेड़े से भी हो सकती है पूछताछ

NCB की विजिलेंस टीम आज एक प्रेस कॉन्फ्रेस कर इस मामले में हुई जांच की जानकारी दी है। इसमें डिप्टी डायरेक्टर जनरल ज्ञानेश्वर सिंह ने कहा कि हमें सिस्टम क्लीन करना है। हमसे भी गलती हो सकती है। अगर हमसे गलती हुई है तो उसे दुरुस्त करेंगे। कोई डिपार्टमेंट फुलप्रूफ नहीं होता है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

क्रूज ड्रग्स केस में करोड़ों रुपये की रिश्वतखोरी के आरोप के बाद से ही इस केस में NCB की विजिलेंस टीम भी अपने हिसाब से जांच में जुटी है। जानकारी के मुताबिक एनसीबी के उप महानिदेशक ज्ञानेश्वर सिंह के नेतृत्व में जांच कर रही 7 सदस्यों की टीम जल्द NCB मुख्यालय को एक डिटेल्ड रिपोर्ट सौंपेगी। आपको बता दें, इस मामले में एनसीबी अधिकारियों पर भी कई गंभीर आरोप लगे हैं। जिसकी जांच जारी है।

NCB की विजिलेंस टीम ने आज एक प्रेस कॉन्फ्रेस कर इस मामले में हुई जांच की जानकारी दी है। इसमें डिप्टी डायरेक्टर जनरल ज्ञानेश्वर सिंह ने कहा कि हमें सिस्टम क्लीन करना है। हमसे भी गलती हो सकती है। अगर हमसे गलती हुई है तो उसे दुरुस्त करेंगे। कोई डिपार्टमेंट फुलप्रूफ नहीं होता है। उन्होंने आगे कहा है कि समीर वानखेड़े को भी पूछताछ के लिए बुलाया जा सकता है। एफिडेविट में गवाह के नाम के अलावा NCB ऑफिसर्स भी रडार पर हो सकते हैं।

गौरतलब है कि रिश्वतखोरी का आरोप लगाने वाले प्रभाकर सइल ने आरोप लगाया था कि NCB ऑफिस में उसने किरण गोसावी को शाहरुख के स्टाफ से 25 करोड़ की डील करते हुए सुना था। यह डील 18 करोड़ में फाइनल हुई थी। इसके बाद शाहरुख के स्टाफ की ओर से 50 लाख रुपए भेजे भी गए थे। हालांकि, वह डील फाइनल नहीं हो सकी। प्रभाकर ने इस डील में सैम डिसूजा को भी अहम किरदार कहा था। हालंकि, NCB की विजलेंस विंग आर्यन खान, शाहरुख की मैनेजर पूजा ददलानी और इस केस के सबसे विवादित चेहरे किरण गोसावी से पूछताछ नहीं की है।

DDG ने बताया कि अभी अभी तक इस मामले में कई अहम गवाह शामिल होने हैं। उसके बाद ही किसी निष्कर्ष पर पहुंचेंगे। मामले में आरोपी गोसावी से पूछताछ की गई है। सोमवार को उसकी कोर्ट में सुनवाई है। इसके अलावा प्रभाकर से भी दो दिन तक पूछताछ की गई है। अभी डेटा, रिकॉर्ड और गवाह का ऐनालिसिस हो रहा है। शाहरुख खान की मैनेजर पूजा ददलानी से अब तक पूछताछ नहीं की गई है। अगर जरूरत पड़ी तो उनसे भी पूछताछ करेंगे। उन्होंने आगे बताया कि आरोपियों के बैंक खाते भी खंगाले जाएंगे। अब तक 15 लोगों के बयान दर्ज किए गए हैं। वहीं टीम सैम डिसूजा के भी संपर्क में हैं।

खबरों की मानें तो विजलेंस टीम की रडार पर जिन लोगों का नाम है उनमें समीर वानखेड़े, किरण गोसावी, प्रभाकर सइल, पूजा ददलानी, सैम डिसूजा, सुनील पाटिल, मनीष भानुशाली, मोहित कंबोज, विजय पगारे, काशिफ खान, रंजीत सिंह बिंद्रा, मयूर गुले, असलम शेख शामिल हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia