अजित पवार के साथ 'सीक्रेट मीटिंग' पर शरद पवार का खुलासा, BJP से गठबंधन पर भी दिया ये बड़ा बयान!

एनसीपी प्रमुख ने स्पष्ट कर दिया कि उनके गुट से कोई भी BJP के साथ नहीं जाएगा, इससे इस संबंध में सभी अटकलें खारिज हो गईं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के अध्यक्ष शरद पवार ने सोमवार को दोहराया कि उनकी पार्टी का BJP में शामिल होने का कोई सवाल ही नहीं है क्योंकि यह "एनसीपी की राष्ट्रीय नीति के अनुरूप नहीं है"। 83 वर्षीय राकांपा प्रमुख ने स्पष्ट कर दिया कि उनके गुट से कोई भी BJP के साथ नहीं जाएगा, इससे इस संबंध में सभी अटकलें खारिज हो गईं।

पवार ने घोषणा की, "हमारे कुछ सहयोगियों ने इस मुद्दे पर अलग रुख अपनाया है। हमारे 'शुभचिंतक' ऐसे प्रयास कर रहे हैं। एनसीपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में, मैं कहता हूं कि एनसीपी BJP के साथ नहीं जाएगी।" उन्होंने यह भी कहा कि राकांपा के प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटिल के रिश्तेदार को BJP में शामिल करने के लिए प्रवर्तन निदेशालय (ईसी) से नोटिस दिया गया था।

पवार ने कहा, ''केंद्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग किया जा रहा है। पाटिल पर दबाव बनाने के लिए उनके रिश्तेदार को ईडी नोटिस भेजा गया है।'' राकांपा नेता के बयान तब आए, जब उन्होंने और पाटिल ने सप्ताहांत में राकांपा (एपी) नेता और उपमुख्यमंत्री अजीत पवार के साथ अलग-अलग बैठकें कीं, इससे राजनीतिक अफवाहें उड़ गईं।

शरद पवार ने कहा कि अजित उनके भतीजे हैं और वह उनसे परिवार के पितातुल्य के रूप में मिले और सोचा कि यह मीडिया में इस तरह की आधारहीन चर्चा का विषय क्यों बनना चाहिए। बैठकों पर महा विकास अघाड़ी (एमवीए) के साझेदार शिव सेना (यूबीटी) के सांसद संजय राउत की ओर से तीखी प्रतिक्रिया आईं, जिन्होंने अफसोस जताया कि इस तरह की बार-बार की जाने वाली कार्रवाइयां सहयोगियों और कार्यकर्ताओं के बीच भ्रम पैदा करती हैं।"

शरद पवार ने कहा कि एमवीए एकजुट है और सहयोगियों - कांग्रेस और शिवसेना (यूबीटी) के बीच भ्रम का कोई कारण नहीं है, क्योंकि इसकी विचारधारा BJP के विरोध में है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;