किसानों के मुद्दे पर NDA में और बढ़ी फूट! अब RLP ने कृषि कानूनों को वापस ना लेने पर BJP को दी नाता तोड़ने की धमकी

बेनीवाल ने कहा कि लगभग 2 लाख किसान मेरे साथ दिल्ली के लिए मार्च कर रहे हैं और इस दौरान हम एनडीए के साथ हमारे गठबंधन के बारे में भी निर्णय लेंगे। यदि कृषि कानून वापस नहीं लिए जाते हैं, तो हम एनडीए के साथ अलग होने की घोषणा करेंगे।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कृषि कानूनों को लेकर मोदी सरकार का विरोध ना सिर्फ किसान, देश की जनता और ना विपक्ष कर रहा है, बल्कि मोदी सरकार के सहयोगी भी केंद्र के इस फैसले के विरोध में उतर चुके हैं। शिरोमणि अकाली दल के बाद अब एनडीए के सहयोगी आरएलपी ने भी मोदी सरकार का विरोध करना शुरू कर दिया है साथ ही एनडीए से नाता तोड़ने की धमकी भी दी है।

देश के अलग अलग राज्यों से किसानों का दिल्ली चलो अभियान जारी है। जिसके तहर हजारों की संख्या में किसान दिल्ली कूच कर रहे हैं। राजस्थान में भी ऐसा ही कुछ देखने को मिला है। अलवर के पास शाहजहांपुर-खेड़ा में चल रहा किसान आंदोलन जारी है। नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल बड़ी संख्या में किसानों के साथ पहुंचे। यहां सुबह ही उनके कार्यकर्ताओं ने अलग से पंडाल लगाया है। हाइवे पर 14 दिनों से जहां किसान डटे हैं, बेनीवाल समर्थकों ने उससे एक किमीटर दूर पंडाल लगाया है।

हजारों की तादात में किसानों के साथ दिल्ली के लिए रवाना होने से पहले एनडीए के सहयोगी और नागौर से सांसद हनुमान बेनीवाल ने यह स्पष्ट कर दिया है कि भाजपा को अब अपना जवाब देना होगा। किसानों से संबंधित इस मुद्दे को अब एक महीने से अधिक लंबा वक्त होने को जा रहा है। शनिवार को 'दिल्ली चलो' के लिए तैयार हजारों की संख्या में किसान जयपुर के पास कोटपूतली में एकत्रित हुए। आपको बता दें, बेनीवाल की राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी केंद्र में भाजपा की सहयोगी है।

बेनीवाल ने आईएएनएस को बताया, "लगभग 2 लाख किसान मेरे साथ दिल्ली के लिए मार्च कर रहे हैं और इस दौरान हम एनडीए के साथ हमारे गठबंधन के बारे में भी निर्णय लेंगे। यदि कृषि कानून वापस नहीं लिए जाते हैं, तो हम एनडीए के साथ अलग होने की घोषणा करेंगे।"नराष्ट्रीय राजधानी में वह केंद्र द्वारा पारित तीन किसान कानूनों को रद्द किए जाने के मांग को लेकर वह किसानों के प्रति एकजुटता दिखाएंगे।

आरएलपी के एक कार्यकर्ता ने आईएएनएस को बताया, "राज्य के विभिन्न हिस्सों से किसान यहां जमा हो रहे हैं। हम विवादास्पद कृषि कानूनों की वापसी की मांग के लिए एक महीने से विरोध कर रहे हमारे किसान भाइयों के साथ एकजुटता दिखाने के लिए दिल्ली कूच करेंगे।" गौरतलब है कि आरएलपी की ओर से शुक्रवार को जारी एक बयान में कहा गया है कि राजस्थान के विभिन्न जिलों से लोग और किसान कोटपूतली में एकत्र होंगे और सांसद हनुमान बेनीवाल के नेतृत्व में शाहजहांपुर सीमा की ओर कूच करेंगे।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia