उत्तराखंड में कोरोना के नए मामलों ने फिर बढ़ाई चिंता, देहरादून में मिले सबसे ज्यादा मरीज

स्वास्थ्य महानिदेशक ने अस्पताल में आने वाले बुखार के मरीजों की कोविड जांच करने के निर्देश दिए हैं। वहीं बुखार के मरीजों को आइसोलेट करने को कहा है। उत्तराखंड की स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ. विनीता शाह ने सभी सीएमओ को इस मामले में पत्र जारी किए हैं।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

पूरे देश के साथ ही उत्तराखंड में कोरोना वायरस के नए मामलों में लगातार इजाफा हो रहा है। राजधानी देहरादून में सबसे ज्यादा कोरोना पॉजिटिव केस आए हैं। संक्रमितों की संख्या बढ़ने से एक बार फिर चिंता बढ़ने लगी है। इतनी बड़ी संख्या में कोरोना केस सामने आने के बाद स्वास्थ्य विभाग भी सतर्क हो गया है।

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार, कोरोना को लेकर देहरादून में चिंता लगातार बढ़ती जा रही है। शनिवार को देहरादून में 21 नए लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। देहरादून जिले में 1 जनवरी से अब तक 165 मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, देहरादून में 143 सैंपल को जांच के लिए भेजा गया।

वहीं 24 घंटे के भीतर 164 लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। अन्य 15 की रिपोर्ट आनी अभी बाकी है। सीएमओ डॉक्टर संजय जैन के मुताबिक, अस्पतालों में तमाम इंतजाम उपलब्ध हैं। दून अस्पताल में तीन मरीज भर्ती हैं। डीएमएस डॉ. धनंजय डोभाल के मुताबिक, अस्पताल में बेड, ऑक्सीजन और दवाइयों की कोई कमी नहीं हैं। डॉक्टर्स अलर्ट पर हैं। बुखार के मरीजों की अब कोरोना जांच की जाएगी देश में कोरोना के संक्रमित मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग एक बार फिर से अलर्ट हो गया है।


स्वास्थ्य महानिदेशक ने अस्पताल में आने वाले बुखार के मरीजों की कोविड जांच करने के निर्देश दिए हैं। वहीं बुखार के मरीजों को आइसोलेट करने को कहा है। उत्तराखंड में कोरोना की जांचें करीब-करीब सभी जिलों में हो रही हैं, लेकिन कुछ ही जांचों में कोरोना के संक्रमित मरीज मिले हैं। स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ. विनीता शाह ने सभी सीएमओ को मामले में पत्र जारी किए हैं।

इसमें अस्पतालों में बुखार के मरीजों की कोरोना जांच को अनिवार्य कर दिया है। वहीं बुखार यानि आईएलई (इन्फ्लुएंजा लाइक इलनेस) पीड़ित को आइसोलेशन में रखने के लिए कहा गया है। मामले में नैनीताल जिले की सीएमओ डॉ. भागीरथी जोशी ने बताया कि मातहतों को मामले में दिशानिर्देश दे दिए गए हैं। साथ ही लोगों से सावधानी बरतने की अपील की गई है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;