जान लें आज के खास अपडेट: नोएडा बॉर्डर पर रैंडम सैंपलिंग, जीएसटी की लॉ समिति की बैठक और नहाए-खाए के साथ छठ की शुरुआत

आज से नोएडा के बॉर्ड्स पर कोरोना की रैंडम सैंपलिंग शुरु होगी। इसके अलावा जीएसटी की विधि समिति की आज बैठक होगी जिसमें रजिस्ट्रेशन सख्त बनाने पर विचार होगी। वहीं नहाए-खाए के साथ आज से छट पूजा का पर्व शुरु हो जाएगा।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

नोएडा में बॉर्डर पर आज से शुरु होगी कोरोना की रैंडम सैंपलिंग

कोरोना वायरस के मामलों में बढ़ोत्तरी के चलते नोएडा प्रशासन आज यानी बुधवार से शहर के सभी बॉर्डर्स पर रैंडम सैंपलिंग शुरु करेगा। इसके तहत डिलीवरी ब्वॉय, रिक्शा चालक और दुकानदारों आदि पर विशेष नजर रखी जाएगी।

दरअसल गौतमबुद्धनगर यानी नोएडा में कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर जिलाधिकारी ने नया एक्शन प्लान तैयार किया है। जिसे जिले भर में आज से लागू किया जा रहा है। विशेषज्ञों का कहना है कि हाल ही के दिनों में जिले में कोरोना मामलों की संख्या बढ़ने का कारण दूसरे राज्यों से आने वाले लोग हैं। इसे रोकने के लिए ही दिल्ली-नोएडा बॉर्डर पर रैंडम सैम्पलिंग की जाएगी।

जीएसटी रजिस्ट्रेशन सख्त करने के लिए जीएसटी काउंसिल की बैठक आज

गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स यानी जीएसटी काउंसिल की एक समिति आज जीएसटी रजिस्ट्रेशन जारी करने की प्रक्रिया को और सख्त बनाने पर विचार करेगी। इस का मकदस टैक्स चोरी को रोकना है। काउंसिल की कानूनी समिति जाली एनवॉयसेज से जुड़े मामलों को रोकने के लिए जीेसटी कानून में जरूरी संशोधन करने के विकल्पों पर विचार करेगी।


नहाए-खाए के साथ छठ पर्व की शुरुआत आज से

छट पर्व की शुरुआत आज नहाए खाए के साथ होगी। आज शाम महिलाएं स्नान पूजन दिनचर्या में बदलाव और सादे भोजन के साथ पर्व की शुरुआत करेंगी। अगले दिन यानी बृहस्पतिवार को छोटी छठ खरना बनेगी, जबकि शुक्रवार को पर्व का पहला अर्घ्य दिया जाएगा। 21 नवंबर की सुबह भगवान सूर्य को अर्घ्य देकर पूजा का समापन होगा।

छठ का त्योहार दीपावली के छह दिन बाद आता है। छठ मुख्य रूप से 20 व 21 नवंबर को मनाया जाएगा, लेकिन इसकी शुरुआत आज से ही हो जाएगी। इस पर्व को मनाने वाली महिलाएं व पुरुष नहाए-खाए वाले दिन नए वस्त्र पहनकर बिना लहसुन प्याज की लौकी की सब्जी और घर में लकड़ी के चूल्हे पर बनी गेहूं की रोटी खाएंगे। व्रत रखने वाले लोग अगले दिन बृहस्पतिवार को खरना के रूप में पूरे दिन निर्जल व्रत रखकर देर शाम को चावल को गुड़ के साथ पकाकर मीठी खीर और रोटी ग्रहण करेंगे।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia