केरलः कोझीकोड के चमगादड़ों में मिला निपाह एंटीबॉडी, इसी महीने खतरनाक वायरस से हुई थी एक लड़के की मौत

कोझीकोड के कुछ अस्पतालों में कुछ हफ्तों तक इलाज के बाद 5 सितंबर को 12 वर्षीय लड़के की मृत्यु हो गई थी, जिसके बाद किये गए परीक्षणों से साबित हुआ था कि लड़का निपाह वायरस से पीड़ित था। उस लड़के को वायरस कैसे हुआ, इस पर अभी और अध्ययन किए जा रहे हैं।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने कहा कि कोझीकोड ने चमगादड़ों के नमूने एकत्रित किए थे, जिसमें में निपाह एंटीबॉडी पाया गया है। कोझीकोड इस महीने की शुरूआत में निपाह से एक 12 वर्षीय लड़के की मौत हो गई थी। जॉर्ज ने कहा कि जिन चमगादड़ों के नमूनों में एंटीबॉडीज पाई गई है वे उसी क्षेत्र के हैं, जहां लड़का रहता था।

स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने बताया कि चमगादड़ की दो अलग-अलग किस्मों में एंटीबॉडी पाए गए हैं। नमूनों का परीक्षण पुणे के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी में किया गया था। उन्होंने कहा कि आईसीएमआर इस पर और अध्ययन कर रहा है और वे हमें इसके बारे में और अधिक जानकारी देंगे।


वीना जॉर्ज ने बताया कि एनआईवी टीम ने क्षेत्र से कई नमूने एकत्र किए थे और आने वाले दिनों में और रिपोर्ट आने की उम्मीद है।इलाके में निपाह वायरस के केस की सूचना मिलते ही केंद्र और राज्य सरकार की विभिन्न टीमें कोझिकोड पहुंचीं थीं और कई नमूने भी एकत्र किए गए थे।

बता दें कि कोझीकोड के कुछ अस्पतालों में कुछ हफ्तों तक इलाज के बाद 5 सितंबर को 12 वर्षीय लड़के की मृत्यु हो गई थी, जिसके बाद किये गए परीक्षणों से साबित हुआ था कि लड़का निपाह वायरस से पीड़ित था। उस लड़के को वायरस कैसे हुआ, इस पर अभी और अध्ययन किए जा रहे हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia