निर्मला सीतारमण ने फैलाई फेक न्यूज, तमिलनाडु के मंत्री का दावा, कहा- मंदिर में पूजा या प्रसाद वितरण पर कोई रोक नहीं

डीएमके सरकार में मंत्री पीके शेखर बाबू ने सीतारमण के आरोपों का ना सिर्फ खंडन किया है बल्कि उन पर अफवाह फैलाने का आरोप लगाया है। उन्होंने साफ कहा कि राम भक्तों पर कोई प्रतिबंध नहीं लगाया गया है। वे पूजा करें या प्रसाद चढ़ाएं, वे पूरी तरह से स्वतंत्र हैं।

निर्मला सीतारमण ने फैलाई फेक न्यूज, तमिलनाडु के मंत्री का दावा
निर्मला सीतारमण ने फैलाई फेक न्यूज, तमिलनाडु के मंत्री का दावा
user

नवजीवन डेस्क

केंद्रीय वित्त मंत्री और बीजेपी नेता निर्मला सीतारमण ने तमिलनाडु सरकार पर अयोध्या के राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम की लाइव स्ट्रीमिंग पर बैन लगाने का झूठा आरोप लगाकर विवाद खड़ा कर दिया है। स्टालिन सरकार के मंत्री पी के शेखर बाबू ने सीतारमण के दावे को झूठ बताते हुए फेक न्यूज फैलाने का आरोप लगाया है। साथ ही कहा है कि राज्य में राम भक्तों पर कोई प्रतिबंध नहीं लगाया गया है। वे भगवान राम की पूजा करें। मंदिरों में भोजन दें या प्रसाद चढ़ाएं। वे पूरी तरह से स्वतंत्र हैं।

इससे पहले सीतारमण ने तमिलनाडु सरकार पर राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के लाइव स्ट्रीमिंग पर बैन लगाने का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा कि यहां अयोध्या में होने वाले कार्यक्रमों के लाइव टेलीकॉस्ट पर रोक लगा दी गई है। पुलिस मंदिरों में कार्यक्रम नहीं होने दे रही है। आयोजकों को धमकी दे रही है कि वे पंडाल तोड़ देंगे। यह हिंदू विरोधी काम है। सीतारमण ने सबूत के तौर पर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर तमिल न्यूजपेपर की एक कटिंग पोस्ट की है।


सीतारमण ने तमिल के बजाय अंग्रेजी और हिंदी में ट्वीट करते हुए कहा कि तमिलनाडु में लोगों को भजन करने, गरीबों को खाना खिलाने, मिठाइयां बांटने और जश्न मनाने से रोका और धमकाया जा रहा है। लाइव टेलीकास्ट के दौरान बिजली कटौती की संभावना है। उन्होंने दावा किया कि तमिलनाडु सरकार अनौपचारिक लाइव टेलीकास्ट प्रतिबंध को उचित ठहराने के लिए कानून-व्यवस्था के बिगड़ने का दावा कर रही है। तमिलनाडु में रामभक्तों की भावना ने हिंदू विरोधी डीएमके सरकार को बेहद परेशान कर दिया है।

हालांकि, तमिलनाड की डीएमके सरकार के मंत्री पीके शेखर बाबू ने ट्वीट करके सीतारमण के आरोपों का ना सिर्फ खंडन किया है बल्कि झूठ की पोल खोल दी है। उन्होंने साफ कहा कि केंद्रीय मंत्री अफवाह फैला रही हैं। मंत्री पीके शेखर बाबू ने ट्वीट किया कि राज्य में राम भक्तों पर कोई प्रतिबंध नहीं लगाया है। वे भगवान राम की पूजा करें। मंदिरों में भोजन दें या प्रसाद चढ़ाएं। वह पूरी तरह से स्वतंत्र हैं। अफसोस की बात है कि केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण अफवाह फैला रही हैं।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;